UP News: प्रोटीन-सप्लीमेंट लेने वाले होशियार, सप्लाई हो रहा है नकली प्रोटीन और सप्लीमेंट

UP Crime: नकली प्रोटीन पाउडर बनाने वालों की फैक्ट्री और दुकानों पर छापा लाखों का माल बरामद, ड्रग विभाग ने कहा कि जानवरों के लिए इस्तेमाल होने वाले इंजेक्शन भी बरामद हुए है।
नकली प्रोटीन बनाने वालों पर छापा
नकली प्रोटीन बनाने वालों पर छापा

मेरठ से उस्मान चौधरी की रिपोर्ट

Meerut Crime News: मेरठ की एसओजी (SOG) और क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की टीम ने मंगलवार देर शाम मेरठ (Meerut) के कई जगह छापेमारी करते हुए ब्रांडेड कंपनी का नकली प्रोटीन (Protien) पाउडर बनाने वाले और बेचने वालों पर कार्यवाही की गई। छापेमारी के दौरान पुलिस ने लाखों का माल बरामद किया है। इस मामले में अभी तक 3 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

पुलिस के मुताबिक छापेमारी की कार्रवाई जारी है। दरअसल पुलिस को काफी दिनों से जानकारी मिल रही थी कि मेरठ में कई जगह पर नकली प्रोटीन पाउडर बन रहा है और बेचा जा रहा है।

इस सूचना पर क्राइम ब्रांच व एसओजी की टीम ने मेरठ के शाहपुर गेट और खैर नगर में छापेमारी की जिसमें पुलिस ने मौके से तीन लोगों को हिरासत में लिया गया। आरोपियों के नाम शोएब बिलाल और दाऊद हैं। आरोप है कि तीनों नामी-गिरामी ब्रांड की कंपनियों के प्रोटीन पाउडर को तैयार कर बेच रहे थे।

पुलिस ने लाखों रुपए का माल भी बरामद किया है छापेमारी के बाद फूड और ड्रग विभाग के अधिकारियों को बुलाया गया और उन्होंने इनके सैंपल लिए और सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। आरोप है कि मेरठ में बड़ी तादाद में नकली प्रोटीन पाउडर बनाने के साथ-साथ एसट्रॉयड इंजेक्शन की भी सप्लाई की जा रही थी जो छापेमारी में बड़ी तादाद में बरामद किए गए है।बाजार में असली के नाम पर नकली प्रोटीन धड़ल्ले से बेचा जा रहा था।

छापा मारकर नकली प्रोटीन बनाने वाले एक रैकेट का पर्दाफाश कर डाला। इतना ही नहीं इसी दुकान में नकली एसट्रॉयड और दवाइयां भी बेची जा रही थी। दुकान की तलाशी के दौरान नकली दवाएं और एस्ट्रॉयड की खेप भी मिली है।

मोटे मुनाफे के लालच में ब्रांडेड प्रोटीन कंपनियों के नकली रैपर तैयार करके उनमें नकली माल डाल कर ऊंची कीमत पर बेचा जा रहा है। मेरठ का खैर नगर बाजार पश्चिम उत्तर प्रदेश में दवाइयों के कारोबार के लिए जाना जाता है ।लेकिन यहां पर असली के नाम पर नकली बेचने का धंधा धड़ल्ले से चल रहा है ।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in