पीठ में दर्द होने पर झोलाछाप डॉक्टर ने लगा दिए पशुओं वाले इंजेक्शन, फिर हुआ ये बड़ा बवाल

अजब-गजब क्राइम : ये पूरा मामला ओडिशा मयूरभंज जिले का है. आरोपी डॉक्टर को पुलिसकर्मी ने थाने से छोड़ा, सहायक उप निरीक्षक सस्पेंड.
पीठ में दर्द होने पर झोलाछाप डॉक्टर ने लगा दिए पशुओं वाले इंजेक्शन, फिर हुआ ये बड़ा बवाल
Crime News in hindi

Odisha Crime Viral News : पीठ में दर्द होने की शिकायत पर एक झोलाछाप डॉक्टर ने उसे जानवरों के इंजेक्शन लगा दिए. बताया जा रहा है कि झोलाछाप डॉक्टर ने दो इंजेक्शन लगाए थे और कुछ खाने की दवा भी दी थी.

इसके बाद बीमार शख्स को काफी अजीब लगने लगा तो किसी को दवा भेजकर जानकारी मांगी. तब पता चला कि ये तो पशुओं को दिए जाने वाला इंजेक्शन है. इसके बाद झोलाछाप डॉक्टर को पुलिस के हवाले कर दिया गया.

आरोप है कि एक पुलिसकर्मी ने बिना कार्रवाई किए ही झोलाछाप डॉक्टर को थाने से जाने दिया. इसके बाद आरोपी डॉक्टर फरार हो गया. अब इस मामले में आरोपी पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है.

ये मामला ओडिशा मयूरभंज जिले का है. यहां ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरतने के आरोप में सहायक उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है. मयूरभंज के एसपी ऋषिकेश ज्ञानदेव ने महुलडीहा थाने में तैनात एएसआई पबित्र मोहन राउत को निलंबित कर दिया। एएसआई पर आरोप है कि उन्होंने स्थानीय लोगों द्वारा पशुओं को दिया जाने वाला इंजेक्शन आदमी को लगाने के एक प्रकरण में झोलाछाप डॉक्टर को पुलिस के हवाले किया था, लेकिन राउत ने उसे जाने दिया।

ये है पूरा मामला

Odisha Crime News in hindi : क्योंझर जिले के कांतिपाल के बिश्वनाथ बेहरा (62) के रूप में पहचाने जाने वाले झोलाछाप डॉक्टर ने 16 अप्रैल को पीठ दर्द से पीड़ित 55 वर्षीय श्रीकांत मोहंता को तीन पशुओं के इंजेक्शन दे दिए थे। इसके अलावा उसने मोहंता को कुछ गोलियां भी दीं और उसे दिन में दो बार सेवन करने का सुझाव दिया। बिश्वनाथ ने जानवरों वाला इंजेक्शन लगाने के लिए मरीज से 470 रुपये वसूले थे। संयोग से, पशु दवा लेने के बावजूद रोगी पर ऐसा कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ा।

हालांकि, मरीज के बेटे को बिश्वनाथ पर झोलाछाप डॉक्टर होने का शक था। उसने ठाकुरमुंडा के एक डॉक्टर को इंजेक्शन की तस्वीर भेजी, जिन्होंने पुष्टि की कि इंजेक्शन जानवरों को दिया जाता है।

महुलडीहा थाना पुलिस ने झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। एएसआई से जाने की अनुमति मिलने के बाद वे फरार हो गया था। फिलहाल पुलिस ने फरार झोलाछाप डॉक्टर की तलाश में छापेमारी शुरू कर दी है।

Related Stories

No stories found.