ग्रेटर नोएडा में चाइनीस क्लब के नाम पर चल रहा था चीनियों का अड्डा, ऐसे खुली पोल.. जानें

Noida Police Burst Illegal Chinese Bar: ग्रेटर नोएडा पुलिस (Police) ने गुरुग्राम (Gurugram) से गिरफ्तार किया था यह चीनी (Chinese) नागरिक वीजा एक्सपायर होने के बावजूद भी अवैध रूप से भारत में रुका हुआ था.
ग्रेटर नोएडा में चाइनीस क्लब के नाम पर चल रहा था चीनियों का अड्डा, ऐसे खुली पोल.. जानें
Illegal Chinese Bar

Noida Crime News: ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) पिछले दिनों चीनी नागरिक सु फाई और उसकी प्रेमिका (Lover) को ग्रेटर नोएडा पुलिस (Police) ने गुरुग्राम (Gurugram) से गिरफ्तार किया था यह चीनी (Chinese) नागरिक वीजा एक्सपायर होने के बावजूद भी अवैध रूप से भारत में रुका हुआ था और इतना ही नहीं नोएडा से पकड़े गए दो चीनी नागरिकों को अपने फ्लैट में शरण देने में भी शामिल था।

आरोपी प्रेमिका
आरोपी प्रेमिका

इसी चीनी घुसपैठिए मामले में रोज नए खुलासे होते जा रहे हैं, घुसपैठियों को पनाह देने वाले और अवैध रूप से ग्रेटर नोएडा में रह रहे गिरफ्तार चीनी नागरिक सु फाई ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं। ग्रेटर नोएडा के घरबरा गांव में चीनी नागरिक ने एक क्लब भी खोल रखा था जिसमें चीन से आए लोगों के लिए पब, ठहरने और खाने की लैविश व्यवस्था भी की गई थी। पूछताछ के बाद थाना इकोटेक पुलिस पुलिस ने चाइनीस क्लब में रेड की थी हालांकि की पुलिस के रेड से पहले ही क्लब में मौजूद दर्जनों चीनी नागरिक और क्लब के स्टाफ फरार हो गए।

चीनियों का अड्डा
चीनियों का अड्डा

पुलिस सूत्रों से यह भी खबरें आ रही है कि गिरफ्तार चाइनीस सु फाई ने आईबी और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के पूछताछ में खुलासा किया है कि ग्रेटर नोएडा में चाइनीस स्लीपर सेल तैयार किए जा रहे थे। चाइनीस क्लब को एक चीनी मोबाइल कंपनी के स्टाफ के रहने के लिए गेस्ट हाउस के नाम पर रेंट पर लिया गया था। चाइनीस क्लब के अंदर पब रेस्टोरेंट और ठहरने की व्यवस्था की गई थी। क्लब में पब चलाने के लिए स्थानीय पुलिस और आबकारी को पैसे देने की भी बातें सामने आ रही है हालांकि पुलिस के आला अधिकारी अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

इन सबके बीच सूत्रों से यह भी बातें सामने आ रही है कि इन चाइनीस घुसपैठियों ने चाइनीस क्लब की बिल्डिंग उत्तर प्रदेश के एक पूर्व मंत्री के बेटे से रेंट पर ली थी। दरअसल प्रॉपर्टी पूर्व मंत्री के बेटे घरबरा के ही एक व्यक्ति से ली थी। पूर्व मंत्री के बेटे ने प्रॉपर्टी को चाइनीस घुसपैठिए को किराए पर दे दी हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि घुसपैठियों ने प्रॉपर्टी को विवो मोबाइल फोन के कर्मचारीयो के गेस्ट हाउस बनाने के नाम पर ली थी।

चीनियों का अड्डा
चीनियों का अड्डा

वही ग्रेटर नोएडा के डीसीपी मीनाक्षी कात्यानी से पूरे मामले पर खुलकर कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया कि मामला देश की सुरक्षा एजेंसियों से जुड़ा हुआ है, इसलिए पुलिस का कुछ भी कहना ठीक नहीं, वही एडिशनल डीसीपी ग्रेटर नोएडा विशाल पांडे से जब पूरे केस के अपडेट के बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया के सीतामढ़ी पुलिस द्वारा दो चीनी घुसपैठियों को पकड़ा गया था जिन्होंने ग्रेटर नोएडा में अपने दोस्त के पास पनाह दी थी। डीसीपी मीनाक्षी कात्यानी ने बताया कि "हमने उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है उसने चाइनीस क्लब के बारे में जानकारी दी है चाइनीस क्लब पर स्थानीय थाना इकोटेक 1 पुलिस जा पहुंची है और जांच कर रही है चीनी नागरिकों से बाकी की पूछताछ आईबी, लोकल इंटेलिजेंस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां कर रही है, स्लीपर सेल के सवाल पर उन्होंने कुछ भी कहने से मना कर दिया, उन्होंने कहा कि जांच शुरुआती फेज में है इस दौरान कुछ भी कहना ठीक नहीं।

आपको बता दें कि इंडो नेपाल बॉर्डर पर सीमा सशस्त्र बल ने शनिवार को बॉर्डर पार कर रहे दो चीनी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया था पूछताछ में दोनों चीनी नागरिकों ने बताया था कि वह 15 दिन तक नोएडा में अपने एक चीनी मित्र के यहां रुके थे। सूचना मिलने के बाद नोएडा पुलिस ने चीनी घुसपैठियों के मित्र और चीनी नागरिक सु फाई उर्फ कैरी को उसकी महिला मित्र के साथ गुरुग्राम के एक पांच सितारा होटल से गिरफ्तार कर लिया था, पूछताछ की गई तो पता चला खुद सु फाई का वीजा एक्सपायर हो चुका है। वह फर्जी तरीके से वीजा पर डेट आगे बढ़ा कर भारत में रह रहा है। ये आरोपी भारत में कई फैक्ट्रियां संचालित कर रहा है जिसने मोबाइल डिस्प्ले और अन्य इलेक्ट्रॉनिक के सामान बनाए जाते हैं, साथ ही चाइनीस क्लब का भी संचालन कर रहा था हालांकि पूरी कहानी के बीच एक भारतीय किरदार रवि शंकर का नाम आ रहा है बताया जा रहा है कि सु फाई ने अपनी फैक्ट्रियों का निर्देशक रविशंकर को बनाया था जो मूल रूप से गुजरात का रहने वाला है। सु फाई के गिरफ्तार होने के बाद से ही रविशंकर फरार है जिसकी तलाश पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां कर रही है।

इन सबके बीच एक बड़ा सवाल लोकल पुलिस और एलआईयू को लेकर उठ रहा है की इतनी बड़ी संख्या में अवैध रूप से चीनी नागरिक ग्रेटर नोएडा में घुसपैठ कर देश की सुरक्षा में सेंध लगा रहे थे लेकिन किसी को भनक तक नहीं लगी। साथ ही सवाल आबकारी विभाग पर भी उठता है जिसके सह में क्लब के अंदर पब चलाया जा रहा था। शराब और बीयर की सैकड़ों पेटियां मौजूद थीं। पकड़े गए चीनी नागरिक सू फाई की निशानदेही पर ईकोटेक 1 थाना पुलिस ने उसी होटल से जहां यह रहा करते थे वहां से 31 पेटी शराब और बीयर भी बरामद की है ।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in