दिल्ली पुलिस ने दबोचा शातिर जीजा साला गैंग, सेंधमारी में माहिर गैंग की चाल से पुलिस भी चकराई

पकड़ा गया दिल्ली का जीजा साला गैंग। जो भी सुनता है तो चौंक जाता है कि अब ये रिश्तेदारों के गैंग दिल्ली और उसके आसपास के लोगों की नाक में दम कर रहे हैं। लेकिन ये सच्चाई भी है।
दिल्ली पुलिस ने दबोचा शातिर जीजा साला गैंग, सेंधमारी में माहिर गैंग की चाल से पुलिस भी चकराई
सांकेतिक तस्वीर

Latest Crime Report: आउटर दिल्ली के रनहौला थाना इलाके की पुलिस ने दो लोगों को गिरफ़्तार करके दावा किया कि उसने जीजा-साला गैंग के नाम से मशहूर एक गिरोह का पर्दाफ़ाश कर दिया। पुलिस ने इन दोनों के पास से एक एको कार और घर के सामान से भरा हुआ एक टैंपो बरामद किया। पुलिस का दावा है कि इसी चोरी की गाड़ियों से वो घरों का सामान चुराते थे और पुलिस को गुमराह करते थे।

दरअसल दिल्ली पुलिस को कई दिनों से एक शिकायत मिल रही थी। शिकायत ये थी कि रनहौला और उसके आसपास के इलाक़ों में कुछ शातिर सेंधमारी करके घरों के सामान पर हाथ साफ कर देते हैं। शिकायतों के बढ़ते अंबार को देखते हुए पुलिस ने थाना के स्तर पर गश्त तेज़ कर दी। इसके अलावा पुलिस ने उन बदमाशों की भी लिस्ट तैयार करनी शुरू कर दी थी जो जेल से बाहर आ चुके थे। इसके अलावा पुलिस ने पूरे इलाक़े में CCTV फुटेज भी खंगालने शुरू कर दिए।

सफेद रंग के टैंपो से सामने आया चोरी का काला सच

Delhi Gang Arrest: CCTV की फुटेज खंगालते समय ही पुलिस को एक सफेद रंग का टैंपो नज़र आया।इस पर पुलिस को शक हुआ। नंबर प्लेट की गहराई से पड़ताल की तो टैंपो चोरी का निकला। जिसे होलम्बी कलां से चोरी किया गया था और उसकी बाक़ायदा FIR भी दर्ज की गई थी। CCTV में ये भी नज़र आया कि एक एको स्पोर्ट कार भी उस टैम्पो के आस पास चलती दिखाई दी। अब पुलिस ने उस टैंपो और उस एको कार पर अपनी नज़रें टिका दीं।

इसी बीच पुलिस को इत्तेला मिली कि बपरौला में गली नंबर 21 के जी ब्लाक में एक सूनसान प्लॉट में वही टैंपो खड़ा है। पुलिस ने मौके पर पहुँचकर देखा तो टैम्पो में घरेलू सामान भरा हुआ था। और वही संदिग्ध एको कार भी कुछ दूरी पर खड़ी थी। पता लगाया तो मालूम हुआ कि एको स्पोर्ट कार राजवीर सिंह राठी उर्फ राजेश उर्फ पंकज के नाम पर थी जो वहीं पास की एक मकान में रह रहा था।

पुलिस ने उसे पकड़ लिया और पूछताछ शुरू कर दी। राजेश उर्फ पंकज के हलक से आवाज़ निकलते ही पुलिस का चेहरा खिल उठा क्योंकि उसका दांव एकदम दुरुस्त पड़ा था। पुलिस के सामने पूछताछ में राजेश ने ही कुबूल कर लिया कि वो पहले बिजली के तारों की चोरी करता था। बाद में उसने अपने दो साथियों को भी अपने गैंग में शामिल कर लिया।

चोरों की शातिर चाल से चकराई पुलिस

Thief Gang Bust: इन लोगों की शातिर चाल ऐसी थी कि ये लोग चोरी की गाड़ी और टैम्पो में ही घरों का सामान चोरी करके भरकर ले जाते थे। ताकि उससे पुलिस की आंखों में धूल झोंकी जा सके। राजेश को अच्छी तरह मालूम था कि चोरी का पता लगाने के लिए पुलिस अक्सर CCTV फुटेज देखती है। ऐसे में पुलिस उस चोरी की कार का पता लगाने की कोशिश करेगी और इन लोगों को बचने का रास्ता मिल जाएगा।

शातिर चोरों की ये चाल तो वाकई कमाल की थी लेकिन एको स्पोर्ट कार के चक्कर में ये सारे के सारे धर लिए गए।

पुलिस की तफ़्तीश में ये भी पता चला कि दरअसल राजेश उर्फ पंकज के दोनों साथी रिश्ते में उसके साले भी हैं और अपने ग्रुप में ये लोग जीजा साले की जोड़ी के नाम से मशहूर थे। पुलिस ने अभी तक इस गैंग के दो लोगों को गिरफ़्तार किया है जबकि तीसरे फरार आरोपी चंद्रभान को ढूंढ़ रही है।

Related Stories

No stories found.