जेल के भीतर शाहरुख को 5 क़ैदियों ने जमकर पीटा, अमरावती कांड पर लंबी लंबी फेंक रहा था

Amravati Murder: अमरावती कांड के आरोपी (Accuse) शाहरूख पठान को जेल (Jail) के भीतर कैदियों (Inmate) के सामने डींगें हांकना महंगा पड़ गया और पांच कैदियों ने उसकी जमकर पिटाई (Beaten) कर दी।
अमरावती का दवा विक्रेता उमेश कोल्हे और हत्या का आरोपी शाहरूख पठान
अमरावती का दवा विक्रेता उमेश कोल्हे और हत्या का आरोपी शाहरूख पठान

Amravati Murder: महाराष्ट्र केअमरावती ज़िले (Amravati) में दवा विक्रेता (Chemist) उमेश कोल्हे (Umesh Kolhe) को मौत के घाट उतारने वाले आरोपी (Accused) की जेल (Jail) में पिटाई कर दी गई। शाहरूख पठान नाम के आरोपी पर जेल के भीतर पांच लोगों ने हमला किया और उसकी जमकर पिटाई की। पिटाई करने वालों की पहचान करने के साथ ही जेल प्रशासन ने अब हमला करने वाले सभी पांचों कैदियों को अलग अलग बैरक में शिफ्ट कर दिया है।

भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान का समर्थन करने पर अमरावती में उमेश कोल्हे नाम के एक दवा विक्रेता की उसके ही दोस्तों ने हत्या कर दी थी। हत्या की इस वारदात के बाद पुलिस ने शाहरूख पठान को गिरफ्तार कर लिया था साथ में उसके उन तमाम साथियों को भी पकड़ लिया गया था जिन्होंने हत्या की इस वारदात में उसका साथ दिया था।

पिटाई करने वाले क़ैदियों को अलग बैरक में शिफ्ट किया

Amravati Murder: पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक जेल में शाहरूख को जिस बैरक में रखा गया था उसी में कल्पेश पटेल, हेमंत मनेरिया, अरविंद यादव , श्रावण आवड और संदीप जाधव भी बंद थे। मंगलवार को इन्हीं पांच कैदियों ने शाहरुख पठान पर हमला कर दिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। पुलिस के सूत्रों से पता चला है कि असल में बैरक में बंद कैदियों ने जब शाहरूख से उसके जेल आने की वजह जानी तो वो गुस्से से भर गए। और इस बात को लेकर उन सभी ने शाहरुख पठान पर हमला कर दिया।

गनीमत ये थी कि जिस वक़्त जेल के भीतर बैरक में ये वारदात हुई वहां बैरक के बाहर संतरी मौजूद थे। जिससे जेल प्रशासन फौरन हरकत में आया और बैरक में पहुंचकर सभी को अलग किया और फौरन सभी कैदियों को अलग अलग बैरक में भेज दिया। इस मामले में मुंबई के एनएम जोशी मार्ग पर इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

कैदियों पर धौंस जमाने की फिराक में था शाहरुख पठान

Amravati Murder: बताया जा रहा है कि नूपुर शर्मा के समर्थन वाली पोस्ट की वजह से ही 21 जून को उमेश की हत्या की गई थी। पुलिस के मुताबिक जेल के सूत्रों से ये भी पता चला है कि इस मामले को बताकर दरअसल शाहरुख पठान दूसरे कैदियों पर अपना रौब जमाना चाहता था। मगर उसकी चाल उल्टी पड़ गई और कैदियों ने उसकी जमकर धुनाई कर दी।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in