यौन उत्पीड़न के कारण लड़की ने किया आत्महत्या, इंसाफ दिलाने के लिए हजारों लोग सड़क पर उतरे

Kalyan Nirbhaya case: यौन उत्पीड़न के कारण आत्महत्या करने वाली नाबालिग लड़की के लिए न्याय की मांग को लेकर हजारों लोगों ने मुंबई से सटे ठाणे जिल्ह के कोलसेवाड़ी पुलिस थाने में एक मार्च निकाला.
यौन उत्पीड़न के कारण लड़की ने किया आत्महत्या, इंसाफ दिलाने के लिए हजारों लोग सड़क पर उतरे

मिथिलेश गुप्ता की रिपोर्ट

Kalyan Nirbhaya case: यौन उत्पीड़न के कारण आत्महत्या करने वाली नाबालिग लड़की के लिए न्याय की मांग को लेकर हजारों लोगों ने मुंबई से सटे ठाणे जिल्ह के कोलसेवाड़ी पुलिस थाने में एक मार्च निकाला.

एक नाबालिग लड़की ने पिछले डेढ़ साल में अपने सात दोस्तों द्वारा हो रहे यौन उत्पीड़न से तंग आकर पिछले हफ्ते आत्महत्या कर ली. घटना के बाद कोलसेवाडी पुलिस ने उसकी एक सहेली समेत सात युवकों को गिरफ्तार कर लिया. आठ आरोपी फिलहाल पुलिस हिरासत में हैं.

कल्याण पूर्व के युवकों ने आज आत्महत्या करने वाली लड़की को न्याय दिलाने की मांग को लेकर चकीनाका से कोलसेवाड़ी थाने तक रैली निकाली. लोगों ने मृतक बच्ची के लिए इंसाफ की मांग की. इस मार्च में हजारों छात्रों, महिलाओं, बुजुर्गों और युवाओं ने भाग लिया.

क्या है पूरी घटना?

कल्याण ईस्ट में एक हैरान कर देने वाली घटना हुई है. पिछले डेढ़ साल से 7 युवक 1 लड़की की मदद से पीड़िता का यौन शोषण कर रहे थे, लड़की का वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसे धमका रहे थे. मानसिक और शारीरिक आघात से तंग आकर लड़की ने आखिरकार इमारत की छत से कूदकर आत्महत्या कर ली.

पुलिस को लड़की के मोबाइल फोन में एक सुसाइड नोट मिला है और कोलशेवडी पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आठ को गिरफ्तार कर लिया है. सात आरोपियों के खिलाफ पोस्को के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस दौरान आरोपियों में एक लड़की भी शामिल है. पुलिस सूत्रों ने खुलासा किया है कि आरोपी लड़की सात युवकों को अपराध करने में मदद कर रही थी.

हैरान करने वाली बात ये है कि ये सात आरोपी पुरुष एक युवती की मदद से इस वारदात को अंजाम दे रहे थे. पीड़ित परिवार के मुताबिक आरोपी कल्याण के एक नामी बिल्डर के बच्चे हैं. और ऐसा आरोप लग रहा है की बिल्डर द्वारा पुलिस पर दबाव बनाया जा रहा था.

छात्रा ने हाल ही में 71 फीसदी अंकों के साथ 12वीं पास की थी. परिवार का कहना है कि पूरे घटना की जांच IPC की धारा 302 के तहत होनी चाहिए, परिवार पर दबाव बनाने की बात कर रहा है, साथ ही हमारी जान को भी खतरा है, इसलिए परिवार की मांग है कि हमें पुलिस सुरक्षा दी जाए.

गिरफ्तार आरोपियों में सनी पांडे, विजय यादव, प्रयाम तिवारी, शिवम पांडे, कृष्णा जायसवाल, आनंद दुबे, निखिल मिश्रा, काजल जायसवाल, कृष्णा जायसवाल और काजल जायसवाल भाई-बहन हैं. घटना में एक और लड़की शामिल है, पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in