GORAKPUR TRIPLE MURDER : करता था बेटी से प्यार, किए उस पर कई वार

CRIME NEWS IN HINDI : गोरखपुर में पति-पत्नी और बेटी की निर्मम तरीके से हत्या !
GORAKPUR TRIPLE MURDER : करता था बेटी से प्यार, किए उस पर कई वार
घटना के बाद पुलिस मौके पर

GORAKPUR TRIPLE MURDER : गोरखपुर में पति-पत्नी और उनकी बेटी की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। पुलिस का कहना है कि प्रेम प्रसंग के चलते इस वारदात को अंजाम दिया। इस सिलसिले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

कैसे हुई ये वारदात ?

UP Crime News: गोरखपुर के खोराबार के रायगंज में सोमवार रात ये वाक्या हुआ। तीनों रात में पैदल ही मटकोड़वा के कार्यक्रम में गांव जा रहे थे, तभी ये वारदात हुई। जिनकी हत्याएं हुई उनके नाम गामा निषाद, उनकी पत्नी संजू और 20 साल की बेटी प्रीति है। खोराबार के रायगंज निवासी गामा निषाद विदेश में रहते थे। वो दो महीने पहले अपने घर आए थे। उन्होंने गांव से करीब एक किलोमीटर दूर बंग्ला चौराहे पर अपना मकान बनवाया है। वहीं पर पत्नी और बच्चों के साथ रहते थे।

छोटे भाई की बेटी की शादी के कार्यक्रम में गए थे, तभी हुई वारदात

गामा के छोटे भाई रामा की बेटी की शादी तय हुई है। सोमवार की रात में मटकोड़वा का कार्यक्रम था। गामा अपने नए मकान से अपनी पत्नी संजू (38) बेटी प्रीति (20) के साथ पैदल जा रहे थे। रास्ते में उन पर हमला हो गया। बदमाशों ने धारदार हथियार से तीनों पर हमला कर दिया। तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। राहगीरों ने शव देखकर शोर मचाया जिसके बाद गांव के लोगों को जानकारी हुई और लोगों ने पुलिस को खबर दी। थोड़ी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची। शव को वहां से हटाने के साथ ही गांव में भारी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई है।

गामा का बेटा बच गया

GORAKPUR CRIME NEWS: बताया गया है कि गामा निषाद तीन भाइयों में सबसे बड़े थे। दूसरे नम्बर के भाई रामा हैं। सबसे छोटे सरविंद है। अन्य दोनों भाई अपने पुश्तैनी मकान में ही रहते हैं। गामा के तीन बच्चे हैं। गामा की बेटी प्रीति है जिसकी हत्या हुई। छोटा बेटा अच्छेलाल है, जिनकी जान बच गई।

एक तरफा प्यार, टकरार फिर हुई वारदात

इस सिलसिले में पुलिस ने एक शख्स आलोक को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, आलोक प्रीति से एकतरफा प्यार करता था। प्रीति उससे किसी का संबंध नहीं बनाना चाहती थी। इस बात को लेकर उसने गुस्से में इस वारदात को अंजाम दिया।

Related Stories

No stories found.