1500 लोगों की मौजूदगी में हुआ 10 बच्चों का बाल विवाह, सोता रहा प्रशासन उसे भनक तक नहीं लगा

Child Marriage in Rajasthan: बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने कड़े कानून का प्रावधान किया है. इसके बावजूद कई जगहों पर बाल विवाह थम नहीं रहा है
1500 लोगों की मौजूदगी में हुआ 10 बच्चों का बाल विवाह, सोता रहा प्रशासन उसे भनक तक नहीं लगा
10 बच्चों का बाल विवाह

Rajasthan Crime News: बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने कड़े कानून का प्रावधान किया है. इसके बावजूद कई जगहों पर बाल विवाह थम नहीं रहा है. ऐसा ही एक मामला राजस्थान के भीलवाड़ा से सामने आया है, जहां एक ही परिवार के दस बच्चों का एक साथ बाल विवाह कर दिया गया. हैरानी की बात यह है कि प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी. इस सामूहिक बाल विवाह में डेढ़ हजार से अधिक लोगों ने भाग लिया और भोज का आनंद लिया.

दरअसल भीलवाड़ा के लंगर के खेड़ा गांव में बुधवार को सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया. जहां अलग-अलग जगहों से बारात आई. इनमें से दस जोड़े नाबालिग थे, जिनकी बिंदोली भी गांव में निकाली गई थी.

इन जोड़ों को मंच पर बिठाकर फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की गई। सामूहिक बाल विवाह की सूचना मिलने पर भीलवाड़ा की बाल कल्याण समिति एवं चाइल्ड लाइन ने गुरुवार शाम मंडल थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी.

मंडल पुलिस अधिकारी मुकेश वर्मा ने बताया कि बाल कल्याण समिति एवं चाइल्ड लाइन की FIR दर्ज कर ली गयी है. बाल विवाह निषेध अधिनियम की धारा 9, 10 व 11 के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है. बाल विवाह गैर जमानती अपराध है. अब अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Related Stories

No stories found.