Aftab Religion : आफताब खोजा मुस्लिम है, इसी समुदाय से रहा है पाकिस्तान के जिन्ना का ताल्लुक

Is Aftab Poonawalla Parsi or Muslim? what is the religion of Aftab poonawalla : आफताब का धर्म क्या है. वो पारसी है या मुस्लिम. आफताब अमीन पूनावाला का असली धर्म खोजा मुस्लिम समुदाय (Khoja Muslim) है.
Is Aftab Poonawalla Parsi or Muslim?
Is Aftab Poonawalla Parsi or Muslim?

Aftab religion Parsi or Muslim : श्रद्धा मर्डर केस (Shraddha Murder) में आफताब अमीन पूनावाला आरोपी है. पर आफताब किस धर्म से ताल्लुक रखता है. इसे लेकर लोग खूब सवाल पूछ रहे हैं. आपको बता दें कि आफताब पूनावाला खोजा मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखता है. लेकिन इससे पहले उसके सरनेम पूनावाला की वजह से उसे लोग पारसी समझ रहे थे. लेकिन उसका धर्म खोजा मुस्लिम (Muslim Religion Khoja) है. ये खोजा मुस्लिम समुदाय वही है जिससे पाकिस्तान के कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना का परिवार रहा है. भारत के प्रमुख अरबपति अजीम प्रेमजी भी खोजा मुस्लिम कम्युनिटी से ही आते हैं. आखिर खोजा मुस्लिम क्या है (What is Khoja Muslim). उसे जानते हैं.

खोजा व्यापारी समुदाय है

Aftab Poonawalla Muslim Religion Khoja Community : खोजा वैसे एक व्यापारी समुदाय है. इस धर्म के ज्यादातर लोग गुजरात और महाराष्ट्र में रहते हैं. इस समुदाय के लोग शिया और सुन्नी दोनों इस्लाम मानते हैं. इस समुदाय के लोगों की भारत में शुरुआत कई सदी पहले गुजरात से हुई थी. यहां के व्यापारी समुदाय के लोगों ने इस धर्म को अपनाया था. वही अब महाराष्ट्र में भी रहने लगे हैं. अफ्रीकी देश के पूर्वी इलाके में भी काफी संख्या में रहते हैं.

हिंदू धर्म से कन्वर्ट होकर खोजा मुस्लिम बने

ब्रिटैनिका वेबसाइट के अनुसार, खोजा पहले हिंदू जाति थी. 14वीं सदी में कई भारतीयों को इस्लाम धर्म में शामिल कराया गया था. इसे फारसी पीर सदर अल दीन ने पूरा कराया था. कहा जाता है कि कुछ लोग अपनी मर्जी से कन्वर्ट हुए थे तो कुछ लोग पर दबाव बनाया गया था. धमकाकर लोगों को जबर्दस्ती ये धर्म अपनाने के लिए मजबूर किया गया था. ये सभी लोग उस समय शिया इस्माइली संप्रदाय से जुड़े थे. इनमें से कुछ सुन्नी समुदाय से भी ताल्लुक रखने लगे थे.

19वीं सदी में भारत में जब इस्माइली इमामत की स्थापनी हुई तब इसका मकसद समुदाय को एकजुट करना था. इसकी वजह से कुछ खोजा मुस्लिम इस्ना अशअरी बन गए तो कुछ ने सुन्नी धर्म को अपना लिया. खोजा समुदाय के कुछ रीति-रिवाज हिंदुओं से मिलते-जुलते हैं. इस समुदाय से जुड़ी कुछ महिलाएं तो आज भी स्वामी नारायण की पूजा करती हैं. बच्चे पैदा होने पर छठी भी मनाती हैं.

पूरी दुनिया में 6.5 लाख से ज्यादा खोजा मुस्लिम

पूरी दुनिया में इस समय साढ़े 6 लाख से ज्यादा खोजा मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगों की आबादी है. इस समुदाय से जुड़े लोग ज्यादातर बिजनेस से जुड़े हैं. इन्हें एक प्रगतिशील समुदाय माना जाता है. इस समय भारत में करीब 5 लाख खोजा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले लोग रहते हैं. यानी पूरी दुनिया में 80 प्रतिशत ज्यादा खोजा समुदाय के लोग इंडिया में ही रहते हैं. बिजनेस के अलावा इंजीनियरिंग और वकालत में हैं.

Image Source : penguinindiablog
Image Source : penguinindiablog

खोजा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले बड़े नाम

अजीम प्रेमजी : विप्रो के पूर्व चेयरमैन और भारत के जानेमाने बिजनेसमैन अजीम प्रेमजी भी खोजा समुदाय से ही आते हैं.

मोहम्मद अली जिन्ना : पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना का परिवार भी खोजा मुस्लिम समुदाय से जुड़ा रहा है. दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, जिन्ना के पिता दूसरी पीढ़ी में कन्वर्ट हुए थे. उनके दादा जीनाभाई राजकोट के पास के हलाई लोहाना थे. बाद में उन्होंने इस्माइली खोजा समुदाय अपना लिया था.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in