इंटरनेट पर लिखा था कल मौत होगी, सच में चली गई जान, एनोरो पेट्रोवा की रहस्यमय कहानी का पूरा सच

Annora Petrova Real Story in Hindi : एनोरा पेट्रोवा की जिंदगी को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं लेकिन आखिर क्या सच है और क्या झूठ. इस बात की कहीं कोई पुष्टि नहीं हो सकी है.
इंटरनेट पर लिखा था कल मौत होगी, सच में चली गई जान, एनोरो पेट्रोवा की रहस्यमय कहानी का पूरा सच
Annora Petrova Story Real Or Fake

Annora Petrova Mystery Story in hindi : इंटरनेट पर लिखा सबकुछ सही ही होता है. ऐसा भी हो सकता है. कई बार नहीं भी. लेकिन इंटरनेट पर लिखी कोई भविष्यवाणी सच हो जाए. तो ये हैरान कर देती है. लेकिन हैरानी तब और बढ़ जाएगी जब पता चले कि इंटरनेट पर लिखी मौत की भविष्यवाणी भी सच हो जाए. तब आप क्या कहेंगे. ये रियल कहानी भी कुछ ऐसी ही है. एनोरा पेट्रोवा (Annora Petrova) के बारे में वीकिपीडिया पर जो कुछ भविष्यवाणी होती थी वो सच हो जाती थी. क्राइम की कहानी (Crime Story in Hindi) में पढ़िए एनोरा पेट्रोवा की अनसुलझी कहानी का पूरा रहस्य. सिर्फ क्राइम तक (CRIME TAK) पर...

what happened to annora petrova
what happened to annora petrova

अमेरिका के इस शहर में हुआ एनोरा पेट्रोवा का जन्म

Annora Petrova Story : एनोरा पेट्रोवा की रियल कहानी अमेरिका की है। दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका। यहां का एक राज्य है ओरेगोन (Oregon)। इस राज्य की सबसे ज्यादा आबादी वाला एक शहर है पोर्टलैंड। वैसे तो इसे ब्रिज का शहर यानी ब्रिजटाउन भी कहा जाता है।

क्योंकि यहां जगह-जगह और पुराने जमाने के काफी मजबूत ब्रिज बने हुए हैं। इसी शहर में ब्रिज जैसे ही मजबूत इरादों वाली एक बच्ची का जन्म वर्ष 1991 में 5 मई को हुआ था। मां नैंसी पेट्रोवा और पिता मिखाइल पेट्रोवा। इन्होंने अपनी बच्ची का नाम एनोरा पेट्रोवा रखा था। प्यार से वो इसे ऐनी बुलाते थे।

Annora Petrova को बचपन से स्कैटिंग का था शौक

बचपन से ही ऐनी को आइस स्कैटिंग का जुनून था। और ये जूनुन उसकी उम्र से कई गुना ज्यादा था। जिस वजह से कम उम्र में ही वो इस खेल में बादशाहत हासिल कर ली थी। जिस टूर्नामेंट में हिस्सा लिया उसी की विजेता बन जाती थी।

annora petrova wikipedia in hindi
annora petrova wikipedia in hindi

गूगल पर नाम सर्च किया और फिर शुरू हुआ रहस्य

Annora Petrova ki kahani : अब वक्त के साथ एनोरा बड़ी हो रही थी। उसकी उम्र 13 साल हो चुकी थी। सामने थी एक बड़ी चुनौती। मशहूर क्रिस्टल क्लासिक चैंपियनशिप। तैयारी भी पूरी थी। उत्साह भी भरपूर था। हारने जैसा कुछ नहीं था। सिवाय जीत के। फिर भी ऐनोरा कंप्यूटर के सामने बैठकर कुछ सोच रही थी। अचानक उसके मन में ख्याल आया।

क्यों न अपना नाम गूगल पर सर्च करूं। गूगल पर टाइप किया एनोरा पेट्रोवा। सर्च का बटन एंटर करते ही पूरा एक वीकीपीडिया पेज ही खुल गया। ये देख एनोरा की आंखें खुलीं रह गईं।वीकिपीडिया पर एनोरा और उसके परिवार की पूरी डिटेल थी। इंटरनेट पर इस बात की भी जानकारी थी कि 13 साल की उम्र तक एनोरा ने कितनी स्कैटिंग चैंपियनशिप जीती है। ये देखकर उसे काफी खुशी हुई।

लेकिन अगले ही पल उसकी आंखें फिर से खुली की खुली रह गईं। जब उसने वीकिपीडिया पेज पर पढ़ा कि एनोरा क्रिस्टल क्लासिक चैंपियनशिप भी जीत चुकी है। इसमें हैरानी की बात इसलिए थी कि ये चैंपियनशिप अभी तक हुई ही नहीं थी। जब वो इंटरनेट पर ये सब देख रही थी उसके अगले दिन ये चैंपियनशिप होने वाली थी।

यानी जो चैंपियनशिप हुई ही नहीं उसके विजेता उसे पहले ही कैसे घोषित कर दिया गया?अगले ही पल उसने सोचा कि शायद किसी ने मेरा हौसला बढ़ाने के लिए वीकिपीडिया पर ऐसा अपडेट कर दिया है। फिर ख्याल आया कि कहीं मेरे पापा ने तो ऐसा नहीं किया। फिर वो तुरंत पापा से पूछ लेती है।

ऐनी के सवाल सुनकर उसके पिता भी हैरान हो गए। उन्होंने ऐसे किसी तरह का कोई ऑनलाइन अपडेट करने से इनकार कर दिया। फिर ऐनी ने कई बार पूछा। लेकिन हर बार ऐनी के पिता मिखाइल पेट्रोवा ने मना किया। खैर, ऐनी भी उनकी बात मान ली। और मन ही मन खुश भी हुई कि कोई उसका प्रशंसक ही ऐसा कर रहा होगा। ये सोचकर वो अगले दिन होने वाली चैंपियनशिप की तैयारी में जुट गई।

अगले दिन वो चैंपियनशिप जीत गई। ये काफी प्रतिष्ठित चैंपियनशिप थी। इसलिए जीत से उसका हौसला सांतवे आसमां पर पहुंच गया था। परिवार में खुशी का माहौल था। यही वजह थी कि पिता ने बेस्ट स्केटिंग कोच सरजेई को ऐनी को ट्रेनिंग देने के लिए हायर कर लिया।

अब एनोरा पहले से बेहतर कोचिंग लेकर आइस स्केटिंग में आगे बढ़ रही थी। अब उसकी निगाह ओलिंपिंक पर थी। आइस स्केटिंग में वो पूरी दुनिया में बादशाहत बनाने की सोच रही थी। लेकिन कई बार उसके कदम वीकिपीडिया पेज पर आकर रुक जाते थे।

वो फिर से वीकिपीडिया पर चेक करती थी कि आखिर उसके बारे में क्या नया अपडेट हुआ है।वो चाहती थी कि वीकिपीडिया पेज पर अगर उसे ओलिंपिंक विजेता लिख दिया जाए तो यकीनन वो भविष्यवाणी भी सच साबित हो ही जाएगी। इसी का वो इंतजार करती थी। लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो उसने खुद ही अपना वीकिपीडिया अकाउंट बना लिया।

इस अकाउंट से लॉगिन कर वो एनोरा पेट्रोवा के वीकिपीडिया पेज पर ओलिंपिंक विजेता की डिटेल अपडेट करने लगी। लेकिन ये डिटेल कभी अपडेट नहीं हो सकी। यानी वीकिपीडिया पर ये जानकारी पब्लिश नहीं हुई। इससे एनोरा निराश होने लगी थी।इस निराशा की वजह वो अपनी दोस्त और आइस स्केटिंग की सबसे करीबी कॉम्पिटिटर खिलाड़ी ब्री को मानती थी।

स्केटिंग में हमेशा ब्री और एनोरा में रोमांचक मुकाबले होते थे। एक बार एनोरा की वजह से ब्री को काफी चोट लग गई थी। जिसके बाद कॉम्पिटिशन से एनोरा को बाहर निकाल दिया गया था। इसके साथ ही एनोरा के कोच यानी सरजेई को भी बैन कर दिया गया।

ये देखकर एनोरा को ये लगने लगा था कि कहीं ब्री ही वीकिपीडिया पर ओलिंपिक विनर को अपडेट होने से तो नहीं रोक रही है।इन्हीं बातों में वो उलझी हुई थी तभी उसने वीकिपीडिया पर एक अपडेट देखा। उसमें लिखा था : Annora Petrova is a pathetic little orphan whose real parents died in a terrible accident. यानी एनोरा पेट्रोवा एक अनाथ है जिसके माता-पिता की एक भयानक दुर्घटना में मौत हो गई।

WikiPedia पर ये अपडेट पढ़ चौंक गई

Annora Petrova WikiPedia Story : वीकिपीडिया पर ये अपडेट पढ़कर वो चौंक गई। ऐसा दावा किया जाता है कि एनोरा ने तुरंत अपने माता-पिता को कॉल किया। लेकिन उसकी बात नहीं हो सकी। ऐसा कहा जाता है कि उसने 100 बार से ज्यादा कॉल की। लेकिन कोई बात नहीं हुई।

इसके कुछ दिन बाद पता चला कि वाकई उसके माता-पिता की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। यानी इंटरनेट पर मौत की भविष्यवाणी सच साबित हुई। ये जानकर वाकई कोई भी सदमे में जा सकता है। ऐनी के साथ भी ऐसा ही हुआ। वो डिप्रेशन में चली गई।

उसे किसी स्विस हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाता है। वहां उसकी काउंसिलिंग होती है। मजबूत इरादों वाली एनोरा एक बार से अपनी जिंदगी की मुश्किलों से जंग जीतने लगती है। और फिर धीरे-धीरे नॉर्मल लाइफ में लौट आती है। वो फिर से उठती है और स्केटिंग प्रैक्टिस शुरू करती है। उम्मीद फिर से चैंपियन बनने की जगती है।

इसलिए वो पीछे मुड़कर फिर से नहीं देखना चाहती थी। वो नहीं चाहती थी कि फिर से अपना नाम गूगल पर सर्च करूं। इस तरह एक लंबा वक्त गुजर जाता है। लेकिन मन में हमेशा ये रहता था कि आखिर वो कौन है? कौन है जो वीकिपीडिया पर ये अपडेट करता है? कौन है जिसे मेरे भविष्य के बारे में ऐसी सटीक जानकारी है? वो कौन है जो हमारी जिंदगी में परछाई की तरह है।

वीकिपीडिया से भी किया था संपर्क

इसी जद्दोजहद में एनोरा वीकिपीडिया ऑफिशियल से भी संपर्क करती है। एनोरा पेट्रोवा पेज को अपडेट करने वाले की डिटेल मांगती है। लेकिन कोई जानकारी नहीं मिलती है। इन्हीं उलझनों के बीच एक दिन ऐसा आता है जब वो फिर से गूगल पर अपना नाम सर्च करती है।

उत्सुकुता होती है कि आखिर वीकिपीडिया पेज पर अब तो कोई अपडेट नहीं है। कई बार रुक जाती थी। फिर हिम्मत जुटाती। फिर रुकती कि कहीं फिर से कोई अनहोनी ना हो। इसी उलझन में आखिर उसकी वो वीकिपीडिया पेज ओपन कर ही देती है। फिर जो वो देखती है और पढ़ती है...उसे देखकर वो सन्न रह जाती थी।

इस बार लिखा था... “Annie Petrova (Born 5th May- Died October 24th, 2010) was an American Junior Figure Skating winner who died a lonely orphan death because she was a greedy little piggy”. यानी एनोरा पेट्रोवा का जन्म 5 मई को हुआ था और 24 अक्टूबर 2010 को मौत हो गई। वो एक अमेरिकी जूनियर फिगर स्केटिंग विजेता थी। अनाथ और अकेलेपन के कारण उसकी मौत हो गई।

इसकी वजह थी कि वो एक लालची छोटी पिग्गी थी।ये अपडेट पढ़ने के बाद एनोरा फिर से डिप्रेशन में चली जाती है। ये सोचकर हालत खराब होती चली जाती है कि आखिर उसकी मौत की तारीख तय करने वाला कौन है? क्या वो वाकई अकेलेपन के कारण मर जाएगी। ये सोचते हुए वो कंप्यूटर के सामने हटती ही नहीं है। शक की वजह से अपनी फ्रेंड ब्री को ईमेल भी टाइप करती है। लेकिन उलझन में उसे भेज नहीं पाती है।

आखिरकार कई दिनों तक वो घर से बाहर नहीं निकलती है। इस पर पड़ोसी पुलिस को सूचना देते हैं। पुलिस घर में दाखिल होती है तो वहां का नजारा देख हैरान हो जाती है। कंप्यूटर के सामने ही एनोरा पेट्रोवा वाकई मृत थी।

कंप्यूटर स्क्रीन पर एक ईमेल ड्रॉफ्ट किया था। उसे ब्री को भेजा जाना था लेकिन सेंड नहीं किया था। ये सबकुछ देखकर वाकई लगता है कि एनोरा पेट्रोवा की जिंदगी की रिमोट किसी और के हाथ में थी। वो तो बस उसके इशारे का इंतजार करती थी।

एनोरा पेट्रोवा : असली कहानी या कोई भ्रम है?

Annora Petrova Real Or Fake Story : एनोरा पेट्रोवा (Annora Petrova)। इसे गूगल पर सर्च करते ही आपको तमाम रहस्य वाली जानकारी मिलेगी। इस स्केटर के साथ क्या वाकई में ऐसी घटना हुई थी। इसे लेकर तमाम दावे किए गए हैं। लेकिन रहस्य आजतक बरकरार है।

ये भी दावा किया जाता है कि एनोरा पेट्रोवा के साथ ये घटना हुई थी लेकिन वीकिपीडिया पर ऐसी कोई जानकारी होने की पुष्टि नहीं मिली है। ऐसे में हो सकता है कि एनोरा किसी मानसिक विकार से पीड़ित हो।

या फिर कहीं ऐसा तो नहीं कि ओलिंपिंक में जीत हासिल करने को लेकर वो इतनी चिंतिंत हो गई थी कि कल्पनाओं में जीने लगी थी। या फिर उसके साथ कुछ ऐसी अप्राकृतिक घटना हो रही थी जिसे दूसरा कोई सामान्य आंखों से नहीं देख सकता था।

इस तरह के तमाम दावे एनोरा पेट्रोवा की जिंदगी को लेकर किए जाते हैं लेकिन आखिर क्या सच है और क्या झूठ। इस बात की कहीं कोई पुष्टि नहीं हो सकी है। इसीलिए इसे दुनिया की सबसे खास क्राइम मिस्ट्री में से एक माना जाता है।

Related Stories

No stories found.