5 टन लोहे का होर्डिंग लगाने वाले का नाम पता चल गया!

ADVERTISEMENT

Ghatkopar Hoarding Collapse: जिस होर्डिंग के गिरने से ये हादसा हुआ वो इतनी बड़ी थी कि उसका नाम लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो चुका है। इसके बावजूद बीएमसी के मुताबिक 17000 वर्ग फीट की इस होर्डिंग को उसकी इजाजत के बिना गैरकानूनी रूप से लगाया गया था।

social share
google news

बीएमसी की ओर से ये भी कहा गया है कि वो 40X40 फुट साइज से बड़ी होर्डिंग लगाने की इजाजत नहीं देती। जबकि सोमवार को जिस होर्डिंग के गिरने से 14 लोगों की मौत हुई उसका साइज 120X120 फुट था। यानी ये होर्डिंग बीएमसी के मानकों से तीन गुना बड़ी थी। अब जोन के बीएमसी कमिश्नर की ओर से नोटिस देकर मेसर्स ईगो मीडिया की ओर से शहर में लगाई गई सभी होर्डिंग्स को हटाने के आदेश जारी कर दिये गये हैं। बीएमससी मुख्यालय में डिजास्टर कंट्रोल रूम का दौरा करने के बाद कमिश्नर भूषण गगरानी ने बताया कि हादसे वाली जगह पर जो चार होर्डिंग लगी थीं सभी रेलवे की जमीन पर लगाई गई थीं और इसके लिये बीएमसी से इजाजत नहीं ली गई थी।

ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT