UP : मऊ में 18 साल पहले हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में 15 आरोपी बरी, मुख्तार अंसारी का ये कनेक्शन था केस में

ADVERTISEMENT

court News : सांकेतिक फोटो
court News : सांकेतिक फोटो
social share
google news

UP Mau Gangrape News : 18 साल पहले मऊ में हुए दंगों के दौरान गैंगरेप की घटना में शामिल सभी आरोपी बरी किए गए. सीबीआई कोर्ट ने मऊ दंगों के दौरान दर्ज हुए गैंगरेप के केस में नामजद 15 आरोपियों को बरी किया गया. 21 अक्टूबर की देर शाम लखनऊ सीबीआइ कोर्ट ने ये फैसला सुनाया. 

Gangrape news : बता दें कि 14 अक्टूबर 2005 को भरत मिलाप कार्यक्रम के दौरान मऊ में दंगा भड़का था. आरोप लगा कि तत्कालीन विधायक मुख्तार अंसारी के इशारे पर फर्जी गैंगरेप का दर्ज कराया गया था. मऊ कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ था. इस मामले में सीबीआई ने 4 अक्टूबर 2010 को सामूहिक दुष्कर्म के मामले में 15 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. कोर्ट में बहस के दौरान गैंगरेप की शिकार हुई नाबालिग पीड़िता का इलाज घटना के एक हफ्ते बाद कराने व अन्य महिलाओं का मेडिकल घटना के डेढ माह बाद कराने के साथ कई लोगों पर मामला दर्ज हुआ था. घटना में चाचा भतीजे व 65 से 70 साल के बुजुर्गो को भी आरोपी बनाया गया था. लखनऊ सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने कल देर शाम सुनवाई के बाद मऊ दंगे के दौरान गैंगरेप के सभी 15 आरोपियों को बरी कर दिया. 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...