तेजाब हमले से लड़की को सिर्फ शारीरिक नहीं बल्कि भावनात्मक पीड़ा होती है, इसलिए बेल खारिज : HC

ADVERTISEMENT

Acid Attack News
Acid Attack News
social share
google news

Acid Attack : किसी लड़की पर एसिड अटैक का असल कितना होता है. और जो ये एसिड अटैक करता है उसे क्या सजा होनी चाहिए. अगर इन दोनों सवालों को एक साथ समझना है तो आपको दिल्ली हाईकोर्ट का ये निर्णय जरूर पढ़ना चाहिए. असल में तेजाब हमले के मामले में जेल गए शख्स ने जमानत की गुहार लगाई थी. इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि…तेजाब से हमला बहुत ही गंभीर अपराध है और अक्सर जीवन बदल देने वाले घाव देता है. इससे न केवल शारीरिक पीड़ा होती है बल्कि भावनात्मक पीड़ा भी होती है जो कभी ठीक नहीं होते. क्या है पूरा मामला. आइए जानते हैं…

Court News

इस आधार पर हाईकोर्ट ने आरोपी को नहीं दी जमानत

PTI की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली उच्च न्यायालय ने तेजाब से हमला करने के एक आरोपी को जमानत देने से इनकार करते हुए कहा है कि वह पीड़िता की मनोवैज्ञानिक पीड़ा की अनदेखी नहीं कर सकता। आरोपी ने लंबे समय तक जेल में रहने के आधार पर जमानत दिए जाने का अनुरोध किया था। अदालत ने कहा कि ऐसे अपराधों पर रोक के लिए एक प्रभावशाली निवारक तंत्र स्थापित करना आवश्यक है।

उच्च न्यायालय ने कहा कि तेजाब हमला, 'समकालीन समाज में सबसे गंभीर अपराधों में से एक' है और आरोपी के लंबे समय तक कारावास में रहने को न्याय के लिए पीड़िता की प्रतीक्षा के समान ही देखा जाना चाहिए। आरोपी ने इस आधार पर जमानत दिए जाने का अनुरोध किया था कि इस अपराध के लिए न्यूनतम सजा 10 साल है और वह पहले ही नौ साल न्यायिक हिरासत में बिता चुका है। न्यायमूर्ति स्वर्ण कांता शर्मा ने कहा कि तेजाब से हमला बहुत ही गंभीर अपराध है और अक्सर जीवन बदल देने वाले घाव देता है। 

ADVERTISEMENT

उन्होंने कहा कि इससे न केवल शारीरिक पीड़ा होती है बल्कि भावनात्मक पीड़ा भी होती है जो कभी ठीक नहीं होते। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में, अदालत की भूमिका न्यायिक संरक्षक के रूप में होती है। अदालत ने चार सितंबर को अपने आदेश में कहा, 'यह अदालत पीड़िता की अनदेखी मनोवैज्ञानिक पीड़ा और उसके जीवनभर बने रहने परिणामों पर अपनी आंखें बंद नहीं कर सकती... इस घटना से किस प्रकार समाज में कई लड़कियों में भय और असुरक्षा की भावना पैदा हुई होगी।'

 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...