UP Jail: अब सरकार इतने करोड़ खर्च करके ऐसे देखेगी कि जेलों से कौन चला रहा है जुर्म की हुकूमत

UP Crime: जेलों का हाल किसी से छुपा नहीं है, जेलों से चलती अपराध की सत्ता पर अब नजर रखने का इंतजाम किया गया है और हर हरकत को कैमरे की जद में रहना होगा
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

UP Crime News: उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद नामी बदमाशों और खतरनाक अपराधियों के साथ साथ शातिर माफिया (Mafia) की हर हरकत पर अब नज़र रखने का फैसला किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राज्य की 30 जेलों में सीसीटीवी कैमरों (CCTV Camera) की संख्या बढ़ाने का काम अब आखिरी दौर में है। ये जानकारी जेल विभाग के एक सीनियर अफसर ने बुधवार को मीडिया से साझा की।

News From Jail अधिकारी ने बताया कि जेलों में कैमरे लगाने का और सर्वेलांस बढ़ाने का सारा काम फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा। इस सिलसिले में पिछले साल एक प्रस्ताव भेजा गया था, जिस पर मुख्यमंत्री ने गृह विभाग को करीब 976 लाख रुपये का बजट जारी करने का निर्देश दिया था। जबकि दूसरे चरण में राज्य की 20 दूसरी जेलों में सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ाने और पुराने कैमरों को बदलने के लिए करीब छह लाख रुपये का बजट जारी किया गया, जिसको लेकर जेल विभाग की ओर से निविदा की कार्रवाई शुरू कर दी गई है, जो अप्रैल तक पूरी हो जाएगी।

Police Action: पुलिस महानिदेशक (जेल) आनंद कुमार ने बताया कि राज्य की जेलों में सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए कैमरों की संख्या बढ़ाने के साथ उन्हें सर्विलांस से जोड़ने काम युद्धस्तर पर जारी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 30 जेलों में 933 सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं, जिसमें से 670 नए सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं जबकि शेष खराब हो चुके कैमरे बदले जा रहे हैं। ऐसे में इन जेलों में 34 सीसीटीवी लगने से यहां पर इनकी संख्या 50 से 60 हो गई है। सबसे अधिक 46 कैमरे आगरा जिला कारागार में लगाए गए हैं।

UP Jail CCTV: पुलिस अफसर कुमार ने बताया कि इन सभी कैमरों को जेल मुख्यालय से सीधे जोड़ दिया गया है ताकि हेडक्वार्टर में संचालित कमांड सेंटर में वीडियो वॉल के माध्यम से जेलों की सीधी निगरानी 24 घंटे हो सके। राज्य की जिन जेलों में कैमरे बदले जा रहे हैं उनमें संवेदनशील बांदा जेल भी शामिल है, जहां माफिया मुख्तार अंसारी बंद है। इसके अलावा केंद्रीय कारागार आगरा, बरेली फतेहगढ़, नैनी व वाराणसी में भी सीसीटीवी कैमरों की संख्या को बढ़ाया गया है।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय कारागार आगरा, बरेली, फतेहगढ़, नैनी, वाराणसी में सीसीटीवी कैमरे लगाने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इसके साथ ही जिला कारागार आगरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़, सुलतानपुर, कानपुर, कानपुर देहात, बुलंदशहर, मेरठ, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, वाराणसी, इटावा, गाजीपुर, मिर्जापुर, फैजाबाद, बाराबंकी, कन्नौज, आजमगढ़, सीतापुर, चित्रकूट, गोरखपुर, मुरादाबाद, उन्नाव, बांदा और प्रतापगढ़ में नए सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं जबकि खराब सीसीटीवी कैमरों को बदला जा रहा है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in