UP के शहरों में योगी के 'ऑपरेशन लाउडस्पीकर' का शोर हुआ तेज़: 11000 के कट गए 'कनेक्शन'

उत्तर प्रदेश में लाउडस्पीकर को लेकर किसी भी बवाल का शोर शायद अब थम जाए। क्योंकि उत्तर प्रदेश की सरकार ने अब तय कर लिया है कि किसी भी धार्मिक स्थल पर कोई लाउडस्पीकर नहीं बजाया जाएगा।
UP के शहरों में योगी के 'ऑपरेशन लाउडस्पीकर' का शोर हुआ तेज़: 11000 के कट गए 'कनेक्शन'
लाउडस्पीकर की सांकेतिक तस्वीर

Latest News: क्या बस्ती , क्या बिजनौर, क्या बरेली क्या बुलंदशहर, कौशांबी से लेकर शामली उन्नाव, लखनउ और जिला गाजियाबाद से लेकर गोरखपुर और अलीगढ़ तक उत्तर प्रदेश में मीनारों से लगे लाउडस्पीकरों को या तो उतार दिया गया या फिर उनका वॉल्यूम कम कर दिया गया।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार का फरमान क्या आया, धार्मिक स्थलों से तो धड़ा-धड़ लाउडस्पीकर उतारे जाने लगे। लोग दौड़ दौड़कर लाउडस्पीकर की आवाज़ कम करने लगे। अब किसी भी लाउडस्पीकर को बजाने की इजाज़त सिर्फ इसलिए नहीं दी जाएगी कि ये मामला धर्म का है, और ये उनका अधिकार है।

लाउड स्पीकर को लेकर मुख्यमंत्री योगी की सख़्त हिदायत

Latest Laud speaker News: उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से मंदिर और मस्जिदों के अलावा सभी तरह के धार्मिक स्थलों से ग़ैरज़रूरी लाउडस्पीकर हटाने की मुहिम अब और तेज़ हो गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये बात बिल्कुल साफ सुथरे शब्दों में कह दी थी कि किसी भी धर्म के लोग अपनी धार्मिक रीति रिवाज के तहत पूजा पाठ और प्रार्थना के लिए लाउडस्पीकरों का इस्तेमाल तो कर सकते हैं लेकिन ज़रा हौले हौले।

योगी आदित्यनाथ ने ये साफ हिदायत दी है उन तमाम धार्मिकस्थल वालों को जहां लाउडस्पीकर बजाने की इजाज़त है, अगर उनके परिसर से बाहर आवाज़ निकली तो लाउडस्पीकर निकाल दिए जाएंगे। कहने का मतलब ये है कि लाउडस्पीकर कहीं पर भी बजाए जा सकते हैं बशर्ते उसकी आवाज़ से किसी को कोई दिक़्क़त नहीं होनी चाहिए। अगर ऐसा हुआ तो कड़ी कार्रवाई होगी। जुर्मान तो लगेगा ही साथ ही लाउडस्पीकर भी निकाल दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री का आदेश आने के बाद खुद ही उतार दिए लाउडस्पीकर
मुख्यमंत्री का आदेश आने के बाद खुद ही उतार दिए लाउडस्पीकर

11000 लाउडस्पीकर उतरे, 35000 की आवाज़ कम हो गई

Laud speaker Update News: उत्तर प्रदेश में अब तक 11000 से ज्यादा लाउडस्पीकर उतारे जा चुके हैं जबकि 35000 लाउडस्पीकर का वॉल्यूम कम कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ प्रशांत कुमार के मुताबिक पूरे प्रदेश में ये अभियान जोरों पर है लेकिन बिना किसी भेदभाव के। उन्होंने साफ कर दिया कि किसी भी धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर उतारने के लिए वर्दीधारी पुलिस नहीं जा रही बल्कि धार्मिक स्थल के कर्मचारियों या वहां के लोगों से ही ये कहा जा रहा है कि वो खुद ही अपने यहां का लाउडस्पीकर उतार दें।

CM योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के साथ बैठक में साफ निर्देश दिया कि त्योहारों पर अब कोई विवाद ना हो। मंदिर-मस्जिद समेत हर धार्मिक स्थल के लिए निर्देश जारी किया गया कि आवाज परिसर से बाहर नहीं जानी चाहिए।

मीटिंग से आदेश के निकलते ही ताबड़तोड़ कार्रवाई

UP Update News: इधर मीटिंग से निकला आदेश और उधर ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू हो गई। बिजनौर जिले 4000 से ज्यादा लाउडस्पीकर उतरवा दिए गए जबकि बाकी बचे 1600 लाउडस्पीकर का वॉल्यूम कम करा दिया गया है। लखनऊ चौक थाना में पुलिस रानी मस्जिद पहुंची और अधिकारियों की मौजूदगी में लाउडस्पीकर उतरवा दिया। पुराने लखनऊ में 433 लाउडस्पीकर हटाए गए।

इस कार्रवाई का विरोध करने वालों पर पुलिस सख्त है। सहारनपुर में बिना इजाजत धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर लगाने का दावा करने वाले हिंदू संगठन के एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि सब उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले का स्वागत भी कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले का स्वागत

Update News : इस कार्रवाई के बीच लाउडस्पीकर हटाने और हनुमान चालीसा पढ़ने की मांग करने वाले राज ठाकरे ने ट्वीट कर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दी है। अपने ट्वीट में राज ठाकरे ने लिखा कि "धार्मिक स्थलों, खासकर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए मैं योगी सरकार को तहे दिल से बधाई देता हूं और उनका आभारी हूं। दुर्भाग्य से महाराष्ट्र में कोई 'योगी' नहीं, जो हैं वो 'भोगी' हैं।"

यूपी में इस मुहिम की शुरुआत गोरखपुर में गोरखधाम मंदिर में लाउड स्पीकर की आवाज धीमी करके की गई। फिर कुछ दूरी पर जिस जामा मस्जिद की अजान दूर-दूर तक सुनाई देती थी उसका वॉल्यूम भी कम कर दिया गया।

Related Stories

No stories found.