UP Crime: कर्ज ना चुकाना पड़े तो दे डाली सर तन से जुदा की धमकी, आरोपी गिरफ्तार

Ghaziabad News: गाजियाबाद में आरएसएस की पत्रिका पांचजन्य के पत्रकार को सर तन से जुदा करने की धमकी मिली थी। पुलिस ने आज मामले में प्राणप्रिय वत्स नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया हैं।
कर्ज और धमकी
कर्ज और धमकी

Ghaziabad Crime News: गाजियाबाद में बीती 12 तारीख को आरएसएस (RSS) की पत्रिका (Magazine) पांचजन्य से जुड़े निशांत आजाद नाम के पत्रकार (Journalist) को सर तन से जुदा करने की धमकी (Threat) मिली थी। पुलिस ने आज मामले में प्राणप्रिय वत्स नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया हैं जो उनका पूर्व परिचित है।  और उसने पत्रकार से 2.5 लाख रुपये उधार ले रखे थे।

अब पत्रकार के उधार के रुपये वापिस मांगे जाने पर उसने पत्रकार को सर तन से जुदा हो जाने की धमकी देने की प्लानिंग रच दी ताकि पत्रकार मिल रही धमकियों को लेकर डर जाए और उसे उधार दी गई रकम से उसका ध्यान हट जाए  ।

दरअसल पत्रकार निशांत आजाद को यह धमकी वर्चुअल नंबर से मिली थी और मामले की संवेदनशीलता को देखते उनकी शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर उन्हें सुरक्षा मुहैया करा दी थी। वही इस मामले में जांच के लिए इंदिरापुरम थाना पुलिस के साथ साथ गाजियाबाद साइबर और सर्विलांस की टीम लगी हुई थी।

पुलिस ने मंगलवार को इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया हैं जो उनका पूर्व परिचित है। आरोपी ने पत्रकार से 2.5 लाख रुपये उधार ले रखे थे। अब पत्रकार के उधार के रुपये वापिस मांगे जाने पर उसने पत्रकार को सर तन से जुदा हो जाने की धमकी देने की प्लानिंग रच दी ताकि पत्रकार मिल रही धमकियों को लेकर डर जाए और उसे उधार दी गई रकम से उसका ध्यान हट जाए। जिससे पत्रकार निशांत आजाद उसे रुपये चुकाने के तगादा न कर सके।

गिरफ्तार शख्स प्राण प्रिय वत्स और निशांत आजाद एक दूसरे को पिछले करीब ढाई साल से जानते हैं। निशांत ने आरोपी को ढाई लाख रुपए उधार दे रखे थे। अब लंबे समय के बाद जब निशांत बार-बार उससे अपने उधार के रुपए मांग रहे थे तो उसने यह साजिश रच दी। आरोपी ने निशांत को डराने और उनका ध्यान भटकाने के साथ, उनसे बदला लेने के लिए धमकी दी थी। वर्चुअल नंबर का इस्तेमाल करके व्हाट्सएप पर सर तन से जुदा करने की धमकी आरोपी ने दी थी। 

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in