Goldy Barar Gang: गांव के चौराहे पर ऐसे दबोचे गए गोल्डी गैंग के दो गुर्गे, फिर हुआ ये बड़ा खुलासा

Goldy Barar Gang: पंजाब पुलिस (Punjab Police) की एंटी गैंग्स्टर टास्क फोर्स (AGTF) ने कनाडा के गैंग्स्टर (Gangsters) गोल्डी बराड़ के दो शातिर बदमाशों को बठिंडा पुलिस के साथ मिलकर गिरफ्तार किया है।
पंजाब का गैंग्स्टर गोल्डी बराड़
पंजाब का गैंग्स्टर गोल्डी बराड़

Goldy Barar Gang: पंजाब पुलिस इस वक्त फुल फॉर्म में गैंग्स्टर (Gangsters) पर शिकंजा कसती दिखाई दे रही है। सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moose Wala) की हत्या के बाद पंजाब मॉड्यूल (Punjab Module) के दो शूटरों (Two Shooters) को एनकाउंटर (Encounter) में मौत के घाट उतारने के बाद पंजाब पुलिस की एंटी गैंग्स्टर टास्क फोर्स यानी एजीटीएफ (AGTF) के हाथ एक और बड़ी कामयाबी हाथ लगी।

कनाडा से अपना गैंग चला रहे गैंग्स्टर गोल्डी बराड़ और अनमोल बिश्नोई के गैंग को करारी चपत लगाते हुए पंजाब पुलिस की AGTF ने बठिंडा पुलिस के साथ एक मिले जुले ऑपरेशन में दो शातिर गुर्गों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के खुलासे पर यकीन करें तो गोल्डी बराड़ गैंग के ये दोनों गुर्गे बठिंडा में पथराला गांव से भागने की फिराक में थे।

पकड़े गए दोनों शातिरों की पहचान मलकीत सिंह उर्फ किट्टा और हरदीप सिंह उर्फ मम्मा को क़ानून की हथकड़ियों में जकड़ा गया है। पकड़े गए दोनों ही शातिर कई आपराधिक मामलों में पंजाब पुलिस की वॉन्टेड लिस्ट से हैं। पुलिस ने इन दोनों के पास से सात पिस्तौल और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए हैं। इसके साथ साथ पुलिस को इन दोनों बदमाशों के पास पुलिस की एएसआई रैंक की एक नकली वर्दी भी मिली है। पुलिस ने वो मोटरसाइकिल भी बरामद कर ली जिस पर सवार होकर ये दोनों गांव से भागने की फिराक में थे।

दो गुर्गे और सात पिस्तौल पुलिस ने पकड़ी

Goldy Barar Gang: पुलिस के अधिकारी के मुताबिक इन दिनों पंजाब में पुलिस के मुखबिरों का जाल सक्रिय है। इन्हीं मुखबिरों से मिली इत्तेला की बदौलत ही जगरुप रूपा और मनप्रीत उर्फ मन्नू को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था। पुलिस के मुखबिरों से एक खबर मिली थी कि गोल्डी बराड़ के दो गुर्गे भारी असलहों के साथ हैं, और मोटरसाइकिल से फरार होने की फिराक में हैं।

इस सूचना का पीछा करते हुए पुलिस ने बठिंडा ज़िले के पथराला गांव के पास लिंक रोड पर नाकाबंदी कर दी। और उस नाकाबंदी के पास पुलिस के साथ साथ AGTF की टीम भी मुस्तैद हो गई। तभी उन्हें दो लोग मोटरसाइकिल पर सवार होकर वहां आते दिखाई दिए। लेकिन नाकाबंदी को देखकर दोनों बदमाशों ने अपनी मोटरसाइकिल का रुख मोड़ दिया। पुलिस ने उनका पीछा किया और उन्हें ललकारते हुए हथियार डालने को कहा। खुद को चारो तरफ से घिरा देखकर दोनों बदमाशों ने पुलिस के हवाले करने में ही अपनी भलाई समझी।

राजस्थान के गैंग्स्टर को मारने निकले थे दोनों शातिर गुर्गे

Goldy Barar Gang: पुलिस की शुरुआती तफ्तीश का खुलासा है कि पकड़े गए दोनों बदमाश कनाडा में बैठे गैंग्स्टर गोल्डी बराड़ के संपर्क में थे। और इन्हीं दोनों बदमाशों ने जैसलमेल में राजस्थान के गैंग्स्टर कैलाश मंजू पर जानलेवा हमला किया था। हैरानी की बात ये है कि हत्या की ये कोशिश दोनों ने जेल से जमानत पर रिहा होने के बाद की।

पंजाब पुलिस के डीजीपी के मुताबिक गोल्डी बराड़ के इन दोनों गुर्गों ने ही गैंग्स्टर सुक्खा दुनेके गैंग के डागर, फतेह नागर और कौशल चौधरी को भी मान लेने की एक नाकाम कोशिश की थी। और हत्या की ये कोशिश उस वक़्त की गई जब इन बदमाशों को अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नांगल अम्बिया के कत्ल के सिलसिले में नाकोदर पुलिस प्रॉडक्शन वारंट में लेकर जा रही थी।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in