रीवा के सर्किट हाउस में संत ने किया गंदा काम, पीड़ित की FIR में रेपिस्ट महंत का कच्चा चिट्ठा

MP के रीवा थाने में लिखी एक FIR ने एक भगवा धारी को बेनक़ाब कर दिया है। खुद को संत कहलाने वाले की शैतानी के बारे में पढ़ने के बाद किसी की भी रूह कांप सकती है। उस भगवाधारी ने किस तरीक़े से एक कॉलेज की स्टूडेंट के साथ बेशर्म और घिनौनी हरक़त की है, जिसे शब्दों की सलाखों में क़ैद खुद उस लड़की ने किया है
रीवा के सर्किट हाउस में संत ने किया गंदा काम, पीड़ित की FIR में रेपिस्ट महंत का कच्चा चिट्ठा
mahant

कॉलेज की लड़की ने खोला कच्चा चिट्ठा

Latest Crime News: 17 साल की उस कॉलेज जाने वाली लड़की ने पुलिस के सामने जो अपनी दास्तां लिखवाई वो उन लोगों को भी बेनक़ाब कर देती है जो संत और शराफ़त के नक़ाब में शैतान को शर्मिंदा करने वाली हरक़त करने से भी बाज़ नहीं आते। क़िस्सा कुछ यूं है कि सतना की रहने वाली उस लड़की को 28 मार्च की सुबह उसके एक जानने वाले लड़के ने रीवा से फोन किया।

FIR में उस लड़के का नाम विनोद पांडे उर्फ दादा लिखा गया है। विनोद ने फोन पर लड़की से उसके रीवा के कॉलेज का काम पूछा तो लड़की ने अपनी फीस की परेशानी विनोद के सामने ज़ाहिर कर दी। तब विनोद ने काम करवाने का भरोसा देकर लड़की को रीवा आने को कहा। 57 किलोमीटर की दूरी को तय करके वो लड़की दोपहर क़रीब 12.30 बजे रीवा पहुँच गई।

कॉलेज की लड़की को शिकार बनाने वाला आरोपी महंत
कॉलेज की लड़की को शिकार बनाने वाला आरोपी महंत

लड़की ऐसे फंसी थी जाल में

Latest Crime News: रीवा पहुँचकर वो सीधा कॉलेज चली गई। लेकिन उसका काम नहीं हुआ तो लड़की ने फोन से विनोद को संपर्क किया। तब विनोद ने उसे एक नियत जगह पर पहुँचने को कहा और भरोसा दिया कि खाना खा कर वो उसका काम करवाने के लिए खुद कॉलेज जाएगा। इसी भरोसे पर वो ऑटो लेकर उस जगह पहुँच गई जहां विनोद ने उसे पहुँचने को कहा था।

वहां पहुँचकर उस लड़की को लेने के लिए एक सफेद रंग की कार पहुँच गई और उसी कार को चलाने वाले लड़के ने ऑटो का किराया भी अदा किया। लड़की को लेकर वो कार रीवा के सर्किट हाउस में पहुँच गई। वहां लड़की की मुलाक़ात विनोद उर्फ दादा से हुई।

उसके बाद विनोद ने लड़की को बताया कि एक संत आने वाले हैं, अगर वो उन संत महाराज का आशिर्वाद ले लेगी तो उसकी तमाम बिगड़ी बन जाएगी।

Mahant Sitaram Das | Social Media
Mahant Sitaram Das | Social Media

जब संत के चेहरे से हटा नक़ाब

Rapist Mahant FIR: इसके आधे घंटे के बाद एक भगवाधारी संत नुमा शख्स वहां सर्किट हाउस में पहुँचा। उसके साथ संत का एक चेला भी था जिसका नाम धीरेंद्र मिश्रा बताया गया। विनोद ने लड़की का परिचय संत से करवाया और लड़की को भी संत महाराज के बारे में बताया कि ये दूसरों के लिए संत हैं लेकिन उनकी मंडली के लिए एक दोस्त हैं।

कमरे में बैठने के बाद उस संत ने विनोद उर्फ दादा से दारू के इंतज़ाम के बारे में पूछा तो लड़की डर गई। उसने वहां से चले जाने की इच्छा जताई तो दादा ने कहा कि अब शाम हो चुकी है। अगर महाराज को खुश कर दो तो तुम्हारे सारे बिगड़े काम बन जाएंगे। संत महाराज बहुत पहुँचे हुए हैं और करोड़ों के मालिक भई हैं। इसी बीच कमरे में मोनू नाम का एक और लड़का आया जो खाने पीने की चीज साथ में लाया था। विनोद ने लड़की को वहां से जाने से रोक लिया और वहां मौजूद सभी लोग शराब पीने लगे।

लड़की के मोबाइल में क़ैद संत की हरक़तें

Rapist Mahant FIR: इसी बीच लड़की ने अपने मोबाइल से चुपके से वीडियो बनाना शुरू कर दिया। तभी उसकी बहन का फोन आया तो विनोद ने लड़की के ज़रिए उसके घर ये संदेश कहलवा दिया कि वो अपनी एक सहेली के साथ हॉस्टल में रुकी है और उसका काम अगले रोज होगा तब वो घर आएगी।

इसके बाद विनोद ने लड़की को भी जबरन शराबी पिलाई। और उसके साथ ज़ोर जबरदस्ती करने लगा। हालात बिगड़ते देख लड़की जब वहां से भागने लगी तो विनोद ने उसे थप्पड़ मारा और कहा कि अब कहां जाएगी, अब तो संत की सेवा करनी ही पड़ेगी। इसके बाद कमरे से संत का चेला, मोनू नाम का लड़का और विनोद तीनों कमरे से बाहर चले गए।

रीवा पुलिस की गिरफ़्त में आरोपी
रीवा पुलिस की गिरफ़्त में आरोपी

नशे में धुत्त संत ने दिखाई शैतानी

Rapist Mahant FIR: कमरे में लड़की और संत रह गए। लेकिन बाहर से विनोद ने कमरे का दरवाजा बंद कर लिया। इसके बाद संत ने कमरे की लाइट बंद करके लड़की को बिस्तर पर खींच लिया और ज़ोर ज़बरदस्ती करने लगा। लाख कोशिश के बाद भी लड़की संत से खुद को नहीं बचा सकी। तब संत ने धमकी दी कि उसके बब्बा अयोध्या मंदिर के अध्यक्ष हैं और अगर उसने किसी को भी कमरे का सच बताया तो पूरे ख़ानदान का ख़ात्मा कर देगा और उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा, क्योंकि उसकी पहुँच बहुत ऊपर तक है।

थोड़ी देर बाद संत ने लड़की के ही मोबाइल से फोन करके विनोद से कमरे का दरवाजा खोलने को कहा और मुझे वहां से ले जाने का कहा। इसके बाद विनोद और मोनू मुझे लेकर नीचे के कमरे में आ गए और वहां मुझे खाना खिलाने लगे। इसके बाद संत ने दादा को आदेश देते हुए कहा कि इस लड़की को ले जाकर किसी होटल में छुड़वा दो।

ऐसे निकल भागी संत के चंगुल से

Rapist Mahant FIR: मोनू उस लड़की को कार में बिठाकर होटल के लिए निकला। लेकिन मैंने रास्ते में कार रुकवाई और कार का गेट खोलकर भागने लगी। तभी वो अपने एक जान पहचान के शख्स से टकरा गई जो अपने दोस्त के साथ कहीं जा रहे थे। मैंने उन्हें सारी बात बताई तो वो मुझे लेकर थाने आ गए।

उस रात को वो लड़की इस कदर बदहवास थी कि पुलिस को कुछ नहीं बता सकी लेकिन अगले रोज जब उस लड़की के पिता थाने पहुँचे तो लड़की को हिम्मत आ गई और उसने सारी बात पुलिस अफसर को बता दी और संत और उसके साथियों की सारी करतूतों की FIR लिखवा दी। इस FIR लिखे जाने के बाद रीवा पुलिस हरक़त में आई और उस संत के भेष वाले बलात्कारी बाबा को और उसके चेलों को गिरफ़्तार कर लिया गया। इस क़िस्से ने पुलिस थाने से निकलकर जमकर हाहाकार मचाया है।

Related Stories

No stories found.