लखनऊ में रिटायर्ड बैंक मैनेजर के हत्यारे की तलाश, नौ कैमरों में दिखा मास्क वाला क़ातिल!

लखनऊ के पॉश इलाके़ में पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर बैंक के रिटायर्ड अफ़सर के क़त्ल की गुत्थी अब पुलिस के लिए नाक का सवाल बन गई है। इस क़िस्से में क़ातिल ने एक तरह से पुलिस को चुनौती दी है कि पकड़ सको तो पकड़ ले। अब पुलिस के हाथ में क़ातिल का चेहरा तो है, मगर न तो मक़सद का पता न ही क़ातिल का।
सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

घर में घुसकर बुजुर्ग की हत्या

LATEST CRIME NEWS: लखनऊ के जानकीपुरम में राम राम बैंक के पास SBI कॉलोनी में पिछले हफ़्ते एक बुजुर्ग की हत्या कर दी गई थी। 74 साल के ललित मोहन पांडेय की घर में घुसकर गला हत्या की गई थी। उनका गला रेता गया था और हाथों की नस भी काट दी गई थी। पुलिस की तफ्तीश में ये भी सामने आया था कि बुजुर्ग की एक आंख भी क़ातिलों ने फोड़ दी थी। शुरुआती तफ़्तीश में पुलिस ने लूट का विरोध करने पर हत्या की आशंका जताई थी।

लखनऊ की अलीगंज की SBI कॉलोनी में रिटायर्ड बैंक अफसर की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने जब अपनी तफ्तीश का जाल फैलाया तो कई चौंकाने वाली बातें भी सामने आईं। पुलिस की जांच टीम को मौका-ए-वारदात के आस पास नौ अलग अलग जगहों पर CCTV कैमरे भी दिखे जिनमें पुलिस को मास्क में छुपा वो शख्स नज़र आ गया है जिस पर हत्या करने का सबसे ज़्यादा शक है।

CCTV फुटेज में नज़र आया क़ातिल

LATEST CRIME NEWS IN HINDI:लिहाजा CCTV की फुटेज के आधार पर पुलिस ने संदिग्ध आरोपी के भागने का एक रूट चार्च तैयार किया है। असल में पुलिस को उस CCTV फुटेज में संदिग्ध आरोपी विकासनगर के अकिलापुर के साबौली गांव की तरफ जाता दिखाई दिया है। लिहाजा पुलिस की टीम ने अकिलापुर और साबौली गांव के घर घर में जाकर लोगों को CCTV की फुटेज दिखाकर आरोपी की पहचान करने की कोशिश की। हालांकि पुलिस के हाथ अब भी खाली हैं।

बताया जा रहा है कि ललित मोहन पांडेय के परिवार में उनकी पत्नी प्रीति पांडेय, बेटा नमित पांडेय और बेटी मालविका पांडेय उर्फ मौली है। बेटा पुणे में नौकरी करता है। जबकि बेटी मालविका शादी के बाद लंदन में परिवार के साथ रहती है।

तफ़्तीश के दौरान पुलिस को CCTV में एक शख्स नज़र आया जिसका चेहरा मास्क से ढका हुआ था। पुलिस के रूट चार्ट में आरोपी इंजीनियरिंग कॉलेज की तरफ बढ़ता दिखाई भी दिया था। लेकिन बाद में वो बायीं दिशा में बनी झुग्गियों की ओर चला गया। और यहीं से पुलिस की तलाश रास्ता भटक गई है। और आरोपी को क़ानून के हाथों से दूर भीड़ में गुम होने का मौका मिल गया।

पुलिस को नहीं मिला क़ातिल का निशान

LUCKNOW MURDER STORY : पुलिस अभी तक इस राज़ से पर्दा नहीं उठा सकी है कि हत्यारे का मक़सद वाकई क़त्ल करना था या फिर उसने लूट की वजह से क़त्ल की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस का ये भी अंदाज़ा है कि आरोपी ने पुलिस की जांच को गुमराह करने के लिए ही अलमारी को खंगाला, ताकि उसके उंगलियों के निशान पुलिस को मिल जाएं।

शुरूआती तफ़्तीश में यही पता चला है कि हत्या की वारदात के बाद दो अलग अलग कमरों में रखी गई अलमारियों को खंगाला गया है। एक अलमारी तो कायदे से खंगाली गई जबकि दूसरी सिर्फ खोली गई थी। ऐसे में एक सवाल वहीं पड़ा पुलिस को मिल गया कि जब क़ातिल का मक़सद लूटपाट भी था तो फिर उसने लॉकर को हाथ क्यों नहीं लगाया।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि मरने वाले ललित मोहन पांडेय के चेहरे और गर्दन पर आधा दर्जन से ज़्यादा चोट के गहरे निशान हैं।

थ्योरियों में उलझी क़त्ल की गुत्थी

MURDER INVESTIGATION : पुलिस ने अंदाजा लगाया है कि घर में दाखिल होते ही संदिग्ध हत्यारे ने ललित मोहन पांडेय को अपने काबू में कर लिया होगा फिर उनसे पूछते वक़्त उनका विरोध करने पर उनके चेहरे पर वार किए होंगे। मुमकिन है कि उन्हें धमकाने के लिए ही हत्यारे ने उनके चेहरे हाथ और गर्दन पर वार किए हों। पुलिस को घर में फोर्स एंट्री यानी घर में घुसने के लिए ज़ोर ज़बरदस्ती का कोई निशान नहीं मिला। लिहाजा आशंका यही है कि मुमकिन है कि क़ातिल ललित मोहन पांडेय का कोई जान पहचान वाला भी हो सकता है।

बकौल पुलिस ललित मोहन पांडेय के घर का निचला हिस्सा पूरी तरह से खाली पड़ा था। पता ये भी चला है कि कुछ अरसा पहले उस हिस्से में कुछ लड़कियां रहती थीं। लिहाजा पुलिस अब उन किराए दारों की लिस्ट तैयार कर रही है जो ललित मोहन पांडेय के घर में रहते थे।

पुलिस की पांच टीमें कर रही छानबीन

LATEST CRIME NEWS: ललित मोहन पांडेय के बेटे और बेटियों से बात करके पुलिस ये भी पता लगा रही है कि किसी के साथ उनकी कोई अदावत तो नहीं थी। या किसी के साथ कभी कोई झगड़ा हुआ हो।

इसके अलावा पुलिस मड़ियांव के पास झुग्गियों में रहने वालों का ब्योरा भी इकट्ठा कर रही है खासतौर पर उन लोगों पर पैनी नज़र है जिनका कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड हो।

बकौल पुलिस पांच टीमें छानबीन में लगी हैं और भरोसा यही है कि जल्दी ही पुलिस असली अपराधी का पता लगा लेगी और ये ब्लाइंड मर्डर केस को सुलझाने में कामयाबी हासिल कर लेगी।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in