लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ पुलिस की है तैयारी पूरी 12 साल के दौरान 5 राज्यों में 36 आपराधिक मामले दर्ज

Lawrence Bishnoi: रिकॉर्ड (Police Record) के मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई Lawrence Bishnoi 12 सालों में 36 केसों (Cases) में शामिल रहा जबकि 18 महीनों में गोल्डी बरार (Goldy Barar) का नाम 8 वारदात में आया।
लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ पुलिस की है तैयारी पूरी
12 साल के दौरान 5 राज्यों में 36 आपराधिक मामले दर्ज
लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार

Lawrence Bishnoi Police Record: पंजाब पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई के लिए अपनी सारी तैयारी पूरी कर ली है। गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के अलावा पुलिस ने उसके साथी और कनाडा में छुपे बैठे सतिंदरजीत सिंह उर्फ गोल्डी बरार के लिए भी अपनी कागजी कार्रवाई पूरी कर ली है। क्योंकि पुलिस को पूरा यकीन है कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर के मामले में क़त्ल के सारे सिरे इन्हीं दोनों से जाकर मिलेंगे।

अभी तक की तैयारी और पुलिस की डायरी में दर्ज आपराधिक केसों के बारे में पुलिस के सूत्रों के मुताबिक बीते 12 सालों के दौरान लॉरेंस बिश्नोई कम से कम 36 आपराधिक मामले में शामिल रहा है। जबकि पिछले 18 महीनों के दौरान गोल्डी बरार का नाम आठ वारदात में सामने आया है।

दस्तावेजों के मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई का पहली बार पुलिस डायरी में नाम अप्रैल 2010 में लिखा गया था जब चंडीगढ़ और मोहाली की पुलिस ने उसके ख़िलाफ तीन आपराधिक मामले दर्ज किए थे। उसमें से एक हत्या की कोशिश, एक अवैध हथियार और जानबूझकर चोट पहुँचाने का मामला था। हालांकि चंडीगढ़ पुलिस के दर्ज किए गए दो मामले में अदालत ने लॉरेंस को बरी कर दिया था। लेकिन मोहाली पुलिस के दर्ज किए गए तीसरे मामले में अदालत ने उसे सज़ा देकर जेल भेज दिया था।

नौ मामलों में अदालत से बरी भी हो चुका है लॉरेंस

Goldy Barar police Record: पुलिस की डायरी के मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई के ख़िलाफ़ पंजाब चंडीगढ़, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में 36 आपराधिक मामले दर्ज हैं जिनमें से 21 मामलों में अभी अदालत में सुनवाई चल रही है। जबकि नौ मामलों में वो अदालत से बरी भी हो चुका है लेकिन छह मामलों में कोर्ट लॉरेंस को सज़ा सुना चुकी है।

अकेले पंजाब में लॉरेंस बिश्नोई के ख़िलाफ 17 मामले दर्ज हैं। जिनमें से छह तो अकेले उसके गृह ज़िले फ़ज़िल्का में ही है, जबकि सात केस मोहाली में दर्ज हैं। दो केस फरीदकोट और एक एक मामला अमृतसर और मुक्तसर में दर्ज है।

पुलिस का रिकॉर्ड गवाह है कि चंडीगढ़ में लॉरेंस बिश्नोई सात मामलों का सामना कर रहा है जबकि राजस्थान में छह और दिल्ली में चार मामले अदालत में चल रहे हैं। दो मामलों की सुनवाई हरियाणा के कोर्ट में हो रही है।

लॉरेंस बिश्नोई के ख़िलाफ़ सबसे ताज़ा मामला जयपुर में दर्ज हुआ था। 10 जून 2021 को जयपुर पुलिस ने लॉरेंस के ख़िलाफ जान से मारने की धमकी देने और रंगदारी वसूलने का मामला दर्ज किया था।

कई बड़े गैंगस्टरों का सिंडीकेट है लॉरेंस बिश्नोई का गैंग

36 cases against Lawrence: पुलिस के रिकॉर्ड के मुताबिक लॉरेंस बिश्नोई फज़िल्का के दुत्तरवाली का रहने वाला है जबकि पंजाब और आस पास के राज्यों में वो अपना गैंग चलाता है। हत्या, सुपारी किलिंग, डकैती, रंगदारी और झपटमारी के केस उसके खिलाफ दर्ज हैं।

गोल्डी बरार उसके सबसे क़रीबी साथी है। इसके अलावा संपत नेहरा, दीपक टीनू, राजू बसोड़ी, काली राजपूत, काला जठेड़ी के साथ मिलकर उसका गैंग वारदात को अंजाम देता रहा है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने वाला लॉरेंस बिश्नोई स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी का पूर्व अध्यक्ष भी रह चुका है।

18 महीनों में आठ वारदात में शामिल रहा गोल्डी बरार

How Many Cases against Goldy Barar: पुलिस के सूत्रों के मुताबिक गोल्डी बरार के ख़िलाफ भी पुलिस की पूरी तैयारी है। पुलिस के रिकॉर्ड के मुताबिक नवंबर 2020 से गोल्डी बरार के ख़िलाफ फरीदकोट ज़िले में उसके ख़िलाफ आठ आपराधिक मामले दर्ज हो चुके हैं। गोल्डी के ख़िलाफ सबसे पहला मामला हत्या की कोशिश का दर्ज हुआ था।

बताया जाता है कि 18 फरवरी 2021 को फरीदकोट में कांग्रेस के नेता गुरलाल सिंह पहलवान की हत्या के मामले में भी गोल्डी बरार शामिल था। जबकि गोल्डी बरार के ऊपर अन्य मामलों में हत्या की कोशिश, अवैध हथियार और रंगदारी मांगने के मामले दर्ज हैं। गोल्डी पर सबसे ताज़ा मामला 7 अप्रैल 2022 को एक सुपारी किलिंग के साथसाथ हथियारों की सप्लाई का मामला दर्ज हुआ था।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in