पंजाब के 500 से ज़्यादा गैंगस्टर से निपटने का पुलिस ने बनाया 'एक्शन प्लान', गैंगवॉर के छाए बादल

Punjab Gang War: सिद्धू मूसेवाला (Siddhu Moosewala) के मर्डर के बाद गैंगवॉर (Gang War) की आशंका बढ़ गई है। मगर पंजाब पुलिस ने अब तमाम गैंग पर नकेल कसने का एक एक्शन प्लान (Action Plan) तैयार किया है।
पंजाब के 500 से ज़्यादा गैंगस्टर से निपटने का पुलिस ने बनाया 'एक्शन प्लान', गैंगवॉर के छाए बादल
पंजाब पुुलिस के DGP वी के भावरा और शूटआउट में मारे गए सिंगर सिद्धू मूसेवाला

Siddhu Moose Wala Murder : बीते दो दिनों से सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद सुर्खियों के साथ साथ सोशल मीडिया पर एक बहस छिड़ी हुई है। आखिर पंजाब में कितने और कैसे कैसे गैंग हैं, इनका क्या क्या कनेक्शन है और आखिर वो कौन कौन सी वजह है जिसने इन गैंग को इस कदर खून का प्यासा बना दिया कि बीते 100 दिनों के दौरान डेढ़ सौ से ज़्यादा हत्या की वारदात अंजाम दे चुके हैं।

आखिर पंजाब में कितने गैंग हैं जो पंजाब के साथ साथ आस पास के राज्यों की पुलिस के लिए भी सरदर्द बनते जा रहे हैं। और इससे भी बड़ी बात की आखिर इन तमाम गैंग का सात समंदर पार के देशों से किस तरह का कनेक्शन जुड़ा हुआ है, जिसने पुलिस के लिए पेचींदिगीयां बढ़ा दी है, और क़ानून के सिपाहियों के हाथों की मज़बूत पकड़कर को ढीला रखने को मजबूर कर दिया है।

गैंग्स ऑफ़ पंजाब ने 100 दिन में 158 लोगों को उतारा मौत के घाट

Punjab Police Inside Planing: पंजाब पुलिस बीते कई दिनों से इस बात को लेकर माथा पच्ची कर रही है कि आखिर पंजाब की उपजाऊ ज़मीन पर अन्न की बंपर पैदावार के साथ साथ आखिर बदमाशों की फसल कैसे लहलहाने लगी। 50362 वर्ग किलोमीटर तक फैले पंजाब के इस इलाक़े में नदियों में पानी तो कम हो गया लेकिन पंजाब की इस ज़मीन पर अचानक ख़ून की नदियां कैसे बहने लगीं।

पंजाब पुलिस की ये कवायद कांग्रेस के नेता और जाने माने सिंगर सिद्धू मूसेवाले की हत्या के बाद अचानक तेज हो गई। पंजाब पुलिस के DGP वी के भावरा ने बाकायदा एक रणनीति तैयार करने और पंजाब की ज़मीन से ऑपरेट करने वाले एक एक गैंग को जड़ से मिटाने के लिए ख़ास टीम तैयार करने का भी निर्देश जारी किया है।

समाचार एजेंसी PTI के साथ बातचीत में पंजाब के DGP ने इस बात को साझा किया है कि पंजाब में क़रीब 500 से ज़्यादा गैंगस्टर है, जिन्हें तीन कैटेगरी A B और C में रखा गया है। खुद DGP भावरा ने ये माना है कि इसी साल जनवरी से अप्रैल तक के 100 दिनों के भीतर पंजाब में गैंग या तो गैंगवॉर या फिर सुपारी किलिंग के तहत क़रीब 158 लोगों को मौत के घाट उतार चुके हैं। जिन लोगों की हत्या की गई उनमें सिद्धू मूसेवाले को छोड़कर और भी कई नामी लोग शामिल हैं जिसमें अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबियां भी शामिल हैं।

गैंग्स ऑफ़ पंजाब, हर शहर हर मोहल्ले हर गली में एक गैंग!
गैंग्स ऑफ़ पंजाब, हर शहर हर मोहल्ले हर गली में एक गैंग!

पंजाब का सुपारी किलिंग का अंतरराष्ट्रीय कनेक्शन

Punjab Gangwar : लिहाजा DGP भावरा ने अब इन गैंग और उनके गुर्गों से निपटने के लिए एक खास तरह की रणनीति तैयार करने का इरादा किया है। और सबसे पहले इस सिलसिले में उन तमाम गैंगस्टर की फेहरिस्त तैयार की है जो या तो पंजाब में हैं नहीं या फिर जेल के भीतर बंद हैं। खुद DGP भावरा इस बात को मानते हैं कि पंजाब के ज़्यादातर गैंगस्टर जेलों में बंद होने के बावजूद अपने गुर्गों के ज़रिए सुपारी किलिंग करवा रहे हैं।

लेकिन सबसे चौंकाने वाली बात खुद पंजाब के DGP भावरा को महसूस हुई, वो ये कि ज़्यादातर मामलों में सुपारी विदेशों से दी गई। या मर्डर का विदेशी कनेक्शन निकलकर सामने आया। ऐसे में पुलिस के लिए ये सबसे बड़ी चुनौती बन गई है कि इन गैंगस्टर्स के विदेशों से जुड़े तारों को बीच से कैसे काटा जा सकता है।

पंजाब के DGP वी के भावरा के मुताबिक पंजाब की ज़मीन पर अपने गैंग की दहशत फैलाने के लिए इन दिनों कुछ गैंग बेहद खूंखार हो गए हैं और ताबड़तोड़ सुपारी किलिंग की वारदात को अंजाम देने लगे। इस तरह के गैंग में सबसे ऊपर नाम लॉरेंस बिश्नोई, जग्गू भगवान पुरिया, दविंदर बंबीहा और मल्ली जैसे गैंग शामिल हैं।

यही नहीं इन्हीं गैंग के बीच इलाक़े में अपना सिक्का जमाने और वर्चस्व कायम करने को लेकर भी गैंगवॉर चल रही है जिसकी वजह से भी प्रेमा लाहौरिया, सुक्खा काहलवां, जयपाल भुल्लर और रॉकी जैसे गैंगस्टर मारे जा चुके हैं। इसके बावजूद इन गैंग से जुड़े गुर्गे अब भी छिटपुट वारदात अंजाम दे रहे हैं, जिसने पुलिस का सिरदर्द अलग से बढ़ा दिया है।

बदले की धमकी के बाद गैंगवॉर के बादल छाए!

Punjab Gangsters: पंजाब पुलिस और उसके चौकस बंदोबस्त पर इसी साल मार्च में उस वक़्त सवालिया निशान लगने शुरू हो गए थे जब अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल अंबियां की हत्या हुई थी। करोड़ों रुपये की कबड्डी लीग के अंतरराष्ट्रीय कनेक्शन के साथ साथ एक इंटरनेशनल साज़िश का पता चला था। और सबसे चौंकानें वाली बात ये थी कि सात समंदर पार रची जाने वाली मर्डर की इस गहरी साज़िश में वो गैंग और गुर्गे शामिल दिखे जो क़ानून के सख़्त पहरे में जेलों में बंद हैं।

पुलिस के लिए सबसे ज़्यादा हैरानी की बात तो ये है कि इन गैंगस्टरों के सोशल मीडिया के इस्तेमाल ने भी पुलिस की सिरदर्दी को बढ़ा दिया है क्योंकि ये तमाम गैंग किसी भी वारदात को खुलेआम ऐलानिया कहने के साथ साथ सोशल मीडिया के पेजों पर भी उसका प्रचार प्रसार करते दिखते हैं। और इसी सिलसिले में सिद्धू मूसेवाला के मर्डर के बाद एक बार फिर पुलिस को ख़बर मिली है कि अब बंबिहा गैंग ने इस हत्या का बदला लेने का ऐलान कर दिया है और बाकायदा अपने सोशल मीडिया पेज पर उसको फैला रहा है।

हालांकि इस बात की आशंका पुलिस को पहले दिन से ही होने लगी थी कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद अब पंजाब में गैंगवॉर के काले बादल मंडराने शुरू हो जाएंगे। क्योंकि मूसेवाला की हत्या का ज़िम्मा उठाया है गोल्डी बराड़ ने। वो गोल्डी बराड़ को सात समंदर पार कनाडा में बैठकर सुपारी किलिंग की वारदात को अंजाम दे रहा है।

लिहाजा बंबीहा गैंग का गोल्डी बराड़ को अपने दिन गिनने की नसीहत देना पुलिस के लिए चुनौती बन गई है। साथ ही साथ ये भी साफ हो गया है कि पंजाब में छुट्टे घूम रहे इन गैंगस्टर्स के दिलों में ख़ाक़ी का कोई खौफ़ नहीं है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in