जहांगीरपुरी हिंसा के मामले में भी ED की एंट्री,  मुख्य आरोपी अंसार से खुद CP ने की पूछताछ
दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना और मुख्य आरोपी अंसार का फ़ाइल चित्र

जहांगीरपुरी हिंसा के मामले में भी ED की एंट्री, मुख्य आरोपी अंसार से खुद CP ने की पूछताछ

जहांगीरपुरी हिंसा का पूरा और असली सच क्या है? इसका पता लगाने के लिए अब दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना ने खुद ही कमर कस ली है। इस सिलसिले में पकड़े गए मुख्य आरोपी अंसार का पुलिस कमिश्नर ने खुद तीन घंटे तक इंटरोगेशन किया।

Latest Crime Update: दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना जहांगीरपुरी हिंसा के मामले में खुद ही तफ़्तीश कर रहे हैं। जहांगीरपुरी हिंसा के मुख्य आरोपी बताए जा रहे अंसार से पुलिस की जांच टीम के साथ साथ खुद पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने भी पूछताछ की और अंसार के सीने में छुपे राज़ को बाहर निकालने की पूरी कोशिश की।

हनुमान जयंती के मौके पर जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस जब एक्शन में आई तो मोहम्मद अंसार शेख को पुलिस ने हिंसा में शामिल होने और उपद्रव फैलाने के जुर्म में न सिर्फ गिरफ़्तार किया बल्कि उसे इस पूरी वारदात का मुख्य आरोपी भी बनाया है। इस घटना के बाद से ही पूरे देश में हंगामा खड़ा हुआ है।

पुलिस कमिश्नर ने किया तीन घंटे तक इंटरोगेशन

Jahangirpuri Riot: लिहाजा दिल्ली पुलिस जल्द से जल्द इस केस को सुलझाने में लगी हुई है और इस पूरी हिंसा का पूरा सच जल्दी से ज़माने के सामने लाने की कोशिश में लगी हुई है। इसी सिलसिले में दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना ने शुक्रवार को खुद ही मुख्य आरोपी मोहम्मद अंसार शेख से तीन घंटे अलग से पूछताछ की।

पुलिस सूत्रों की मानें तो आरोपी अंसार को पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच के ऑफिस में दोपहर क़रीब 12 बजे लाया गया था। खुद पुलिस कमिश्नर क्राइम ब्रांच के दफ़्तर पहुँचे और पूछताछ के बाद जांच में लगे पुलिस अधिकारियों से पूरी रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया है।

अब ED भी खंगालेगी मुख्य आरोपी अंसार का सारा कच्चा चिट्ठा

Delhi Riot Update: इससे पहले दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने प्रवर्तन निदेशालय यानी ED को एक चिट्ठी लिखकर अंसार के मामले को खंगालने का अनुरोध किया था। ईडी अब इस मामले में ये देख रहा है कि जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अंसार को कहीं से कोई फंड तो मुहैया नहीं करवाया गया था। खासतौर पर ED विदेशी फंडिंग के एंगल को तलाश रही है।

क्योंकि खबर यही मिली है कि इस हिंसा की वारदात के लिए विदेश से भी फंडिंग किए जाने के संकेत मिले हैं। लिहाजा पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय से आग्रह किया है कि अंसार के ख़िलाफ़ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत पूरी जांच की जाए।

ये बात सभी जानते हैं कि 16 अप्रैल को हनुमान जयंती के रोज़ एक शोभा यात्रा के बाद जहांगीरपुरी में शाम को पथराव की घटना के बाद हिंसा भड़क गई थी। पुलिस ने इस सिलसिले में कार्रवाई करते हुए अब तक क़रीब 25 लोगों को गिरफ़्तार किया है। और पकड़े गए तमाम लोगों का सारा कच्चा चिट्ठा पुलिस खंगालने के लिए देश के अलग अलग हिस्सों में बिखरी कड़ियों को समेटने में लगी हुई है।

Related Stories

No stories found.