दिल्ली-NCR का नामी गुंडा विकास लगरपुरिया दुबई में इंटरपोल के हत्थे चढ़ा, भारत लाने की तैयारी शुरू

दिल्ली और एनसीआर का नामी गुंडा जल्दी ही तिहाड़ पहुँचने वाला है। 30 करोड़ की चोरी के मामले में फरार चल रहा विकास लगरपुरिया आखिरकार इंटरपोल पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया, वो दुबई में फर्जी पासपोर्ट मामले में पकड़ा गया।
दिल्ली-NCR का नामी गुंडा विकास लगरपुरिया दुबई में इंटरपोल के हत्थे चढ़ा, भारत लाने की तैयारी शुरू
विकास लगरपुरिया

Latest Crime Report : राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र यानी NCR का नामी बदमाश और इनामी गुंडा विकास लगरपुरिया आखिरकार क़ानून के जाल में फंस ही गया। 30 करोड़ रुपयों की चोरी के मामले में फ़रार चल रहा विकास लगरपुरिया दुबई में इंटरपोल पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। गुरुग्राम पुलिस की क्राइम ब्रांच के एसीपी प्रीत पाल सिंह सांगवान के मुताबिक क्राइम ब्रांच के साथ साथ STF भी लगरपुरिया को दुबई से भारत लाने की तैयारी में जुट गई है। उसे प्रोडक्शन वॉरंट पर लाने की तैयारी की जा रही है।

बताया जा रहा है कि दुबई में गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को फर्जी पासपोर्ट के आरोप में दबोचा गया। गुरुग्राम पुलिस ने भी इस बात की तस्दीक की है कि विकास ने हरियाणा से ही नकली पासपोर्स बनवा रखा था। उधर दिल्ली की पुलिस भी लगातार दुबई और इंटरपोल पुलिस के संपर्क में है और विकास को भारत लाने के बारे में लगातार दोनों के बीच बातचीत चल रही है।

बताया जा रहा है कि गुरुग्राम में 30 करोड़ रुपयों के चोरी का असली मास्टरमाइंड विकास लगरपुरिया ही था जो पैरोल जंप करने के बाद बीते सात सालों से फरार चल रहा था। विकास लगरपुरिया कितना बड़ा गुंडा है इसका अंदाजा उसके खिलाफ़ दर्ज मामलों से ही लगाया जा सकता है, मकोका जैसी संगीन धाराओं समेत उसके ख़िलाफ़ कई केस दर्ज हैं। यहां तक कि अदालत उसे कई मामलों में भगोड़ा भी घोषित कर चुकी है।

30 करोड़ की सनसनीख़ेज़ चोरी का 'मास्टरमाइंड'

Latest Gangsters News: गुरुग्राम में खेड़कीदौला थाना इलाक़े में पिछले साल यानी 5 अगस्त 2021 को 30 करोड़ रुपये की चोरी की सनसनीखेज़ वारदात हुई थी। दिल्ली पुलिस ने इस चोरी के सिलसिले में स्पेशल सेल के एएसआई विकास गुलिया को धर दबोचा था। उसके पकड़े जाने के बाद ही इस हाईप्रोफाइल चोरी के असली मास्टरमाइंड का खुलासा हुआ था। वो विकास लगरपुरिया ही था। असल में विकास लगरपुरिया और विकास गुलिया दोनों ही एक ही गांव के थे और दोनों में खूब गहरी छनती थी। अब तक पुलिस इस मामले में 16 लोगों को गिरफ़्तार कर चुकी है।

पुलिस के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अल्फ़ाज़ी कॉर्प मैनेजमेंट सर्विसेज़ प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी जिसमें 50 लाख रुपये की चोरी की बात कही गई थी लेकिन जब पुलिस ने इस मामले में पड़ताल की तो 30 करोड़ के चोरी की बात सामने आई।

कौन है विकास लगरपुरिया?

Gangsters News: असल में विकास लगरपुरिया दिल्ली यूनिवर्सिटी का छात्र था। विकास रामलाल आनंद कॉलेज से बीए कर रहा था। ठीक ठाक खाते पीते घर से ताल्लुक रखने वाले विकास का मन पढ़ाई लिखाई में कम और दादागीरी में ज्यादा लगता था लिहाज कॉलेज से ड्राप आउट होकर वो गैंगस्टर बन गया।

हरियाणा के झज्जर ज़िले का रहने वाला विकास लगरपुरिया असल में बहादुरगढ़ के लगरपुर गांव का ही रहने वाला है। लेकिन जरायम की दुनिया में कदम रखने के बाद उसका नाम उसके गांव के नाम से जोड़ दिया गया और वो विकास लगरपुरिया के नाम से मशहूर हो गया।

जरायम की दुनिया में ऐसे रखा था विकास ने क़दम

Gangsters News: विकास के पड़ोसी गांव के धीरपाल काना का उन दिनों अच्छा खासा नाम हुआ करता था। ये वाकया 2009 का है। विकास ने भी धीरपाल का काफी नाम सुना था लिहाजा विकास ने पड़ोसी गांव के धीरपाल से दोस्ती कर ली, और वहीं से उसके कदम गुनाह के दलदल में धंसते चले गए। शुरू शुरू में तो विकास छोटी मोटी दादागीरी और लड़ाई झगड़ों के साथ साथ धमकाने जैसे कामों से ही जुर्म की दुनिया में अपनी जड़े गहरी जमा रहा था।

लेकिन धीरपाल की संगत ने उसे जुर्म की दुनिया में काफी ऊंचा मुकाम दिला दिया। साल 2012 में धीरपाल के उकसाने पर ही विकास ने पहली हत्या की वारदात अंजाम दी जब उसने टिंकू नाम के एक छुटभैया बदमाश की घर में घुसकर हत्या कर दी थी। इस वारदात के बाद न तो विकास ने पीछे मुड़कर देखा और न ही उसके नाम को किसी ने मामूली समझा।

Related Stories

No stories found.