Delhi Crime: अंधविश्वास में 6 साल के बच्चे की बलि दी, दूसरे की बलि देने से पहले ही दो आरोपी गिरफ्तार

Delhi News: बच्चे के कत्ल के बाद रंगे हाथों पकड़े गए आरोपियों ने खुलासा किया भगवान शिव ने उनसे दो बच्चों की बलि मागी थी, जिसके बाद दोनों ने मिलकर 6 साल के बच्चे का गला काट दिया।
हिरासत में आरोपी और मृतक की फाइल फोटो
हिरासत में आरोपी और मृतक की फाइल फोटो

Delhi Crime News: साउथ दिल्ली की लोधी कॉलोनी में तंत्र-मंत्र और अंधविश्वास (Superstition) के चक्कर में 6 साल की बच्चे (Child) की बलि (Sacrifice) देने के मामला सामने आया है। पुलिस ने बच्चे की बलि देने वाले दो आरोपियों (Accused) को गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है। पुलिस ने आरोपी विजय कुमार और अमर कुमार को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्होने 6 साल के मासूम का गला रेत कर हत्या की है। हैरानी की बात ये है कि दोनों आरोपी अगर गिरफ्तार ना होते तो एक दूसरे बच्चे की बलि देने की तैयारी में थे। उन दोनों आरोपियों ने पुलिस के सामने खुलासा किया कि शंकर भगवान ने इनसे एक बच्चे की बलि मांगी थी और इसी वजह से उन्होंने मासूम का गला काट कर हत्या कर दी।

फिलहाल पुलिस ने घटनास्थल से वह चाकू भी बरामद कर लिया है जिससे हत्या की गई थी। दरअसल 01 अक्टूबर की रात दक्षिणी दिल्ली की लोधी कॉलोनी के सीआरपीएफ मुख्यालय के अंदर कुछ लेबर और कर्मचारी भजन कीर्तन कर रहे थे।

इसी दौरान खबर मिली कि 6 साल का धर्मेंद्र नाम का एक बच्चा कहीं गायब हो गया है। जिसके बाद पूरे इलाके में बच्चे की तलाश शुरु कर दी गई। तभी लोगों को इलाके में मौजूद एक झुग्गी के बाहर से खून बहता हुआ दिखाई दिया लेकिन लोग ये समझे कि मजदूरों ने मुर्गा काटा होगा।

बच्चे की काफी देर तक तलाश के बाद लोग दोबारा उसी झुग्गी के बाहर पहुंचे और जब अंदर जाकर देखा तो दो लोग बच्चे की लाश को छुपाने की कोशिश कर रहे थे। दोनों के कपड़े खून से सने हुए थे जिसके बाद बच्चे के पिता ने शोर मचा दिया और आसपास के लोगों ने विजय कुमार और अमर कुमार को मौके से ही धर दबोचा।  

चूंकि केस सीआरपीएफ कॉलोनी का था लिहाजा एक अधिकारी ने तुरंत लोधी कॉलोनी पुलिस को फोन कर मामले की जानकारी दी। लोधी कॉलोनी थाने की पुलिस ने मौके से विजय कुमार और अमर कुमार को गिरफ्तार कर लिया। जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी बिहार के रहने वाले हैं। गिरफ्तारी के वक्त दोनों युवक बेहद नशे की हालत में थे।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in