पांच लोगों की मौत से दहल गया प्रयागराज, हत्या और आत्महत्या की थ्योरी में उलझी UP पुलिस

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शनिवार की सुबह एक पूरा परिवार ही मौत की गहरी नींद में सो गया। किसने मारा और क्यों मारा के सवाल के जवाब की तलाश में पुलिस भी मौके पर डेरा डाले हैं। लेकिन इस वारदात ने पूरे इलाक़े में सनसनी ज़रूर फैला दी।
पांच लोगों की मौत से दहल गया प्रयागराज, हत्या और आत्महत्या की थ्योरी में उलझी UP पुलिस
प्रयागराज में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत से फैली दहशत

Latest Crime News : उत्तर प्रदेश का प्रयागराज 16 अप्रैल को सुबह जागने से पहले ही कांप उठा। इससे पहले शहर सोकर उठ पाता, एक पूरा परिवार और परिवार के पांच लोग हमेशा हमेशा के लिए मौत की नींद में सो गए। लेकिन ये मौत मामूली नहीं बल्कि एक ख़ूनी वारदात के शक्ल में सामने आई जिससे पूरे इलाक़े में कोहराम मच गया।

प्रयागराज के नवाबगंज इलाक़े के खागलपुर गांव में पांच लोगों की हत्या हुई है। घर में मां और बेटियों का गला कटा मिला जबकि घर के मालिक की फंदे से लटकी लाश मिली। इस दिल दहलाने वाली ख़बर मिलते ही पुलिस महकमें के तमाम आला अधिकारी सुबह सवेरे ही मौके पर जा पहुँचे। यहां मरने वालों में पति पत्नी और उनके तीन बच्चे हैं।

पत्नी और बच्चों की धारदार हथियार से हत्या, पति का शव लटका मिला

Prayagraj Murder News: पुलिस के मुताबिक 42 साल के राहुल तिवारी उनकी 38 साल की पत्नी प्रीति और तीन बेटियां माही पीहू और पोहू एक किराए के मकान में रह रहे थे। असल में मूल रूप से ये परिवार कौशांबी ज़िले का रहने वाला है। बकौल पुलिस पत्नी और तीनों बच्चों के शव बेड पर पड़े मिले। उन सभी का गला रेता हुआ था। जबकि पति का शव फंदे से लटका मिला।

ऐसे में पुलिस का एक अंदाज़ा ये भी है कि परिवार के मुखिया राहुल तिवारी ने पहले अपनी पत्नी और तीनों बेटियों की गला रेत कर हत्या कर दी और फिर खुद फांसी से लटक कर खुदकुशी कर ली। लेकिन इस थ्योरी के साथ साथ पुलिस हत्या के एंगल से भी पूरी मामले की तहकीकात में जुट गई है।

मौके पर पुलिस का सारा अमला मौजूद है। फॉरेंसिक टीम भी पहुँच गई। क़त्ल किए गए तीनों बच्चों की उम्र 12 साल, सात साल और पांच साल है। हालांकि पुलिस ने अपनी पूछताछ का दायरा बढ़ा दिया है लेकिन अभी तक इस परिवार के बारे में पुलिस को कोई ऐसी बात पता नहीं चली है जो इस सनसनीखेज़ क़त्ल की वारदात में कोई रोशनी डाल सके। हालांकि ऐहतियात के तौर पर पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। जबकि सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

Related Stories

No stories found.