अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलन के कारण कई ट्रेन निरस्त, कुछ को रोका गया

अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलन के कारण कई ट्रेन निरस्त, कुछ को रोका गया
अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलन के कारण कई ट्रेन निरस्त, कुछ को रोका गया
अग्निपथ योजना

लखनऊ, 17 जून (भाषा) रक्षाकर्मियों की भर्ती संबंधी केंद्र की नयी ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ युवाओं के आंदोलन को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे, उत्तर मध्य रेलवे और उत्तर रेलवे ने कई ट्रेन को रद्द कर दिया है तथा कुछ को रोकना पड़ा है।

अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने उत्तर प्रदेश के बलिया में यार्ड में खड़ी ट्रेन के एक खाली डिब्बे में आग लगा दी। पूर्वोत्तर रेलवे एनईआर के जनसंपर्क अधिकारी पंकज सिंह ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि,'' रेलवे स्टेशन के बाहर यार्ड में खड़ी एक ट्रेन के खाली डिब्बे में कुछ लोगों ने आग लगा दी, लेकिन आग पर तुरंत काबू पा लिया गया और ज्यादा नुकसान नहीं हुआ।''

उन्होंने बताया कि युवाओं के आंदोलन को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे ने 12 रेलगाड़ियां निरस्त की हैं। इसमें वाराणसी-छपरा, छपरा-औरिहार, बलिया-वाराणसी, आजमगढ़-वाराणसी, प्रयागराज-रामबाग-मऊ, छपरा-वाराणसी, थावे- मसरख, मसरख-थावे, वाराणसी-बलिया और बनारस-पटना एक्सप्रेस ट्रेन शामिल हैं ।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा 15 ट्रेन को फिलहाल रेलवे स्टेशनों पर रोका गया है और हालात सही होने पर उन्हें एक-एक करके गंतव्य की ओर रवाना किया जा रहा है।

उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि एनसीआर क्षेत्र में किसी भी ट्रेन के साथ तोड़फोड़ की अभी तक कोई सूचना नही हैं। उन्होंने बताया कि आधा दर्जन से अधिक ट्रेन को जगह-जगह रोका गया है और स्थिति सामन्य होने पर उन्हें गंतव्य की ओर रवाना किया जा रहा है ।

मालवीय के अनुसार उत्तर मध्य रेलवे क्षेत्र में किसी भी ट्रेन को रद्द नहीं किया गया है। उत्तर रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि उत्तर रेलवे क्षेत्र में किसी ट्रेन में तोड़फोड़ की कोई खबर नही हैं। आंदोलन के कारण एक ट्रेन वाराणसी-पटना 03289 को रदद किया गया है।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए तीनों सेनाओं में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘अग्निपथ’ योजना की मंगलवार को घोषणा की थी, जिसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी।

योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे। चयन के लिए पात्रता उम्र साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और इन्हें ‘अग्निवीर’ नाम दिया जाएगा।

भाषा जफर संतोष

संतोष

संतोष

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in