शुक्रवार को काबुल की एक मस्ज़िद में ज़बरदस्त धमाका, 10 लोग मारे गए 20 से ज़्यादा ज़ख़्मी

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की हुकूमत के दौरान लगातार धमाके होते जा रहे हैं। शुक्रवार को नमाजियों से भरी एक मस्ज़िद में जबरदस्त धमाका हुआ जिसमें दस लोगों के मारे जाने की खबर है।
शुक्रवार को काबुल की एक मस्ज़िद में ज़बरदस्त धमाका, 10 लोग मारे गए 20 से ज़्यादा ज़ख़्मी
सांकेतिक तस्वीर

Blast News: अफ़ग़ानिस्तान में एक बार फिर हुए धमाके ने दुनिया को दहलाया है। शुक्रवार को अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में एक ज़बरदस्त धमाका हुआ। ये धमाका एक मस्जिद में उस वक़्त हुआ जब वहां नमाज अता करने के लिए सैकड़ों लोग इकट्ठा हुए थे। बताया जा रहा है कि इस धमाके में 10 लोगों के मरने की ख़बरें हैं जबकि 20 लोग ज़ख़्मी हुए हैं। हैरानी की बात ये है कि इस धमाके की जानकारी तालिबान के एक प्रवक्ता ने दी।

काबुल से सामने आई खबरों के मुताबिक रमज़ान महीने की आखिरी शुक्रवार की नमाज़ अदा करने के लिए एक मस्जिद में जिस वक़्त सैकड़ों लोग इकट्ठा हुए थे। खलीफ़ा आगा गुल जान मस्जिद जिस वक़्त नमाजियों से भरी हुई थी, उसी समय एक ज़बरदस्त धमाका हुआ। बताया जा रहा है कि जिस वक्त ये धमाका हुआ उस धमाके की धमक से मस्जिद के आसपास की इमारतें थर्रा गई थीं।

बहुसंख्यक सुन्नी मुसलमानों के इलाक़े में ज़बरदस्त धमाका

Terror News Afghanistan: धमाके के फौरन बाद तालिबान के सुरक्षा कर्मियों ने पूरे इलाक़े को अपने कब्ज़े में ले लिया।

चश्मदीदों के मुताबिक ये धमाका इतना ज़बरदस्त था कि इसकी आवाज़ कई किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। बताया जा रहा है कि जिस मस्जिद में धमाका हुआ वो अफ़गानिस्तान के बहुसंख्यक सुन्नी मुसलमानों का इलाक़ा है।

ग़ौर करने वाला पहलू यही है कि अफ़ग़ानिस्तान में हाल ही के दिनों में कई धमाके हुए लेकिन ज़्यादातर उन धमाकों का निशाना शिया मुसलमानों को ही बनाया जाता था।

अभी पिछले ही हफ़्ते अफ़ग़ानिस्तान के मज़ार-ए-शरीफ़ शहर में और एक धार्मिक स्कूल में धमाके हुए थे जिसमें 33 लोगों के मारे गए।

Related Stories

No stories found.