SPG : एसपीजी (SPG ) क्या होती है और ये कैसे काम करती है?

ADVERTISEMENT

Special Protection Group
Special Protection Group
social share
google news

SPG : SPG का Full Form है Special Protection Group. जैसा कि नाम से ही साफ है कि ये एक ऐसा ग्रुप है जो विशेष सुरक्षा मुहैया कराता है, लेकिन सवाल उठता है कि किन्हें SPG Cover मिलता है तो इसका जवाब है देश के पीएम से लेकर तमाम वीवीआईपीस (VVIPs यानी Very Very Important Persons) को।

जब पुलिस और दूसरी सुरक्षा एजेंसियां मौजूद थी तो क्यों जरूरत पड़ी एसपीजी की?

1984 में तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई थी। उनके अंगरक्षकों ने ही उन्हें मार डाला था। इसके बाद सरकार ने खासकर पीएम की सुरक्षा की समीक्षा की थी। उस वक्त ये मांग उठी थी कि पीएम की सुरक्षा को और पुख्ता किया जाना चाहिए। एक ऐसी फोर्स की मांग उठी, जो सिर्फ वीवीआईपीस को सुरक्षा कवर देगी। 1988 में एसपीजी का गठन किया गया। इससे पहले संसद ने एसपीजी एक्ट पारित किया। उस वक्त ये प्रावधान किया गया था कि एसपीजी कवर सिर्फ मौजूदा पीएम को दिया जाएगा, न कि पूर्व पीएम को।

ADVERTISEMENT

1989 में सरकार बदली। वी पी सिंह पीएम बने। 1989 में सरकार ने राजीव गांधी का एसपीजी कवर हटा दिया।1991 में उनकी हत्या हो गई। इसके बाद 1991 में ही कांग्रेस की सरकार बनी। कांग्रेस को लगा था कि अगर एसपीजी राजीव गांधी की सुरक्षा में तैनात होती तो शायद ये घटना नहीं होती। इसके बाद एसपीजी कानून में संशोधन किया गया। सरकार ने ये तय किया कि पूर्व पीएम और उनके परिवार को पद से हटने के 10 साल बाद तक एसपीजी सुरक्षा कवर मिलेगा।

वाजपेयी सरकार ने किया था संशोधन

ADVERTISEMENT

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने 2003 में इस कानून में फिर संशोधन कर दिया। बीजेपी की सरकार ने तय कि पूर्व पीएम को पद छोड़ने के एक साल बाद तक ही एसपीजी कवर मिलेगा।

ADVERTISEMENT

मोदी सरकार ने एसपीजी एक्ट में एक और संशोधन किया। सरकार ने सिर्फ मौजूद पीएम को ही एसपीजी कवर देने की बात कही। अब सिर्फ मौजूदा पीएम को ही एसपीजी कवर मिलता है।

एसपीजी में कौन से कमांडोज शामिल किए जाते हैं? 
Which commandos are included in SPG?

एसपीजी कमांडोज को विश्वस्तरीय ट्रेनिंग देकर एसपीजी (SPG) में शामिल किया जाता है। एसपीजी कवर अब देश के पीएम को मिलता है, बाकि किसी को नहीं। आपने अक्सर पीएम मोदी के साथ कुछ कमांडोज जरूर देखे होंगे, जो सूट-बूट पहन कर काला चश्मा लगा कर उनके इर्द-गिर्द रहते हैं। ये ही एसपीजी कमांडोज हैं, लेकिन विशेष परिस्थितियों में एसपीजी कवर पीएम के अलावा भी कुछ और वीवीआईपीस को मिलता है।

एसपीजी में कैसे भर्तियां होती है और इसके लिए क्या योग्यता चाहिए? How are recruitments done in SPG and what is the qualification required for it?

एसपीजी कमांडो PM के साथ रहते हैं। कमांडोज ने एक स्पेशल सूट पहना होता है। ये ऐसे सूट होते हैं जो FNF-असॉल्ट से लैस होते हैं। उन्हें हथियार चलाने की विशेष ट्रैनिंग दी जाती है। एसपीजी कमांडोज ने काले चश्में पहने होते हैं। एसपीजी में भर्ती होने वाले जवानों का चयन पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स के द्वारा किए जाता है। ये होम मिनिस्ट्री के अंतर्गत काम करती है। 

एसपीजी कमांडोज बनने से लिए पहले किसी फोर्स में अपनी सेवा देनी होती है। इसके बाद ही कठिन ट्रेनिंग के बाद एसपीजी में शामिल किया जाता है। इसकी ट्रैनिंग विदेशों में भी होती है। एक निश्चित समय के लिए ही एसपीजी कमांडोज को पीएम सुरक्षा में तैनात किया जाता है। समय पूरा होने पर दूसरे SPG कमांडोज को पीएम सिक्योरिटी में शामिल किया जाता है। ये चेंज होते रहते हैं।

एसपीजी कमांडोज को सैलरी, ड्रेस Allowance के अलावा मेडिकल समेत कई सुविधाएं मिलती हैं। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...