पति से पूछकर खुशबू ने दी थी भाड़े के हत्यारों को सुपारी, Blind Murder Case में पुलिस का सनसनीखेज खुलासा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Muzaffarpur, Bihar: बिहार के मुजफ्फरपुर में पिछले महीने एक प्रॉपर्टी डीलर की हत्या हुई थी। पुलिस के सामने करीब करीब ये ब्लाइंड मर्डर केस था। लेकिन महज एक महीने के भीतर ही पुलिस ने इस ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाने का दावा किया। मगर जिस सच का पुलिस ने खुलासा किया वो किसी मसाला फिल्मी कहानी से कम नहीं है। इस सिलसिले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है जिसमें एक पति पत्नी की जोड़ी है। पुलिस के मुताबिक ये सुपारी किलिंग थी। और सुपारी दी थी एक महिला ने, वो भी अपने पति के साथ मिल कर और उससे पूछकर। और वो भी पूरे एक लाख रुपये की।

FIR ने दिखाया पुलिस को रास्ता

असल में मुजफ्फरपुर में 13 मई को प्रोपर्टी  डीलर मनोज कुमार की हत्या हुई थी। बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी और मौके से फरार हो गए थे। जिसकी हत्या हुई थी वो प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था। पुलिस को शुरू शुरू में ये मामला प्रॉपर्टी में आपसी रंजिश का ही लगा। लेकिन एक प्रॉपर्टी डीलर की हत्या की गई थी तो पुलिस उन तमाम लोगों को खंगालने में जुट गई जिन लोगों के साथ उस प्रॉपर्टी डीलर  मनोज कुमार के साथ सौदा किया था। लेकिन इसी बीच पुलिस को उस FIR ने रास्ता दिखाया जिसे मनोज कुमार की पत्नी ने लिखवाया था। 

दी गई थी धमकी देख लेंगे

उस एफआईआर में मनोज की पत्नी ने लिखवाया था कि उसके पति मनोज कुमार का महेश राय नाम के एक शख्स के साथ एक जमीन का झगड़ा चल रहा है। पता लगाया तो पुलिस के सामने एक बात ये खुलकर सामने आ गई कि मनोज कुमार ने महेश राय की पत्नी खुशबू देवी की बहन की करीब 18 कट्टा जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम करवा ली थी। जबकि खुशबू ने अपने पिता से वो जमीन अपने नाम रजिस्ट्री करवाई थी। और इस बात को लेकर महेश और मनोज के साथ साथ खुशबू ने बहुत झगड़ा किया था और देख लेने की धमकी तक दे डाली थी। पुलिस ने इस सच को पूर खंगालने का इरादा किया और केस सुलझाने की दिशा में बढ़ गई। 

ADVERTISEMENT

इस ब्लाइंड मर्डर केस की छानबीन कर रहे डीएसपीओ पूर्वी -2 मनोज कुमार सिंह के मुताबिक 

13 मई को सुबह करीब 6 बजे सकरा थाना क्षेत्र के मछही गांव निवासी मनोज कुमार मॉर्निंग वॉक पर निकले थे तभी बाइक सवार अपराधियो ने उन्हे गोली मारकर ज़ख्मी कर दिया था जिसके बाद घायल मनोज कुमार को ईलाज के  अस्पताल में भर्ती कराया गाया ।

जहा ईलाज के दौरान उनकी मौत हो गई ।वहीं मृतक मनोज कुमार के पत्नी के लिखित आवेदन के आधार पर घटना को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई। जिस मे दो अज्ञात लोगों और दो नामजद लोग के खिलाफ़  प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस घटना की जांच में जुट गई।  सकरा थाना प्रभारी राजू कुमार पाल ने  मानवीय  एवं तकनीकी सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए तीन आरोपी और एक शूटर को पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया गया ।गिरफ्तार अपराधकर्मी ने पूछताछ में बताया की  मृतक मनोज कुमार और हत्या की घटना में  आरोपी खुशबू देवी दोनो एक ही गांव की निवासी थी।  खुशबू देवी की बहन ललिता देवी से 18 कट्ठा जमीन की रजिस्ट्री बीते दिनों कराई गई थी बाद में उसी ज़मीन को खुशबू देवी द्वारा अपने पिता के माध्यम से उस ज़मीन को अपने नाम पर रजिस्ट्री करा लिया गया । उस ज़मीन पर कब्जे को लेकर दोनो पक्षों के बिच काफ़ी समय से तनाव का माहौल बना हुआ था इसी बीच खुशबू देवी अपने पति महेश राय और अपने भांजा रूपेश राय के साथ मिल कर शूटर अनीश कुमार को एक लाख़ रुपए की सुपारी मनोज कुमार की हत्या के लिए दी थी 

 

 

पुलिस ने सुपारी किलिंग का किया खुलासा

खुलासा हुआ कि खुशबू ने महेश के साथ मिलकर ही मनोज कुमार के नाम की सुपारी दी थी और इसके लिए उसने दो भाड़े के हत्यारे हायर किए थे। 13 मई को तय वक्त पर दोनों सुपारी किलर बाइक पर सवार होकर उसी रास्ते से निकले जिस रास्ते से मनोज आता जाता था। पुलिस आखिरकार पहले सुपारी किलर तक पहुँची और फिर पहुँची सुपारी देने वाली खुशबू देवी और उसके पति महेश राय तक। पुलिस के मुताबिक खुशबू ने ही अपने किसी जानने वाले के जरिए सुपारी किलर से मनोज कुमार की जिंदगी का सौदा किया और उसे एक लाख रुपये की सुपारी दे दी थी। पुलिस ने बाइक और पिस्तौल के साथ कुछ कारतूस भी बरामद किए हैं। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...