आवारा कुत्ते की गवाही से पुलिस ने ऐसे सुलझाया 'Blind Murder'

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Blind Murder Case Solved: सड़क पर घूमते आवारा कुत्तों (Stray Dog) को देखकर आपका अंदाजा कुछ भी हो, लेकिन पुलिस के लिए ये कुत्ते बड़े काम के साबित हो जाते हैं। कम से कम मुंबई पुलिस तो ये दावा कर ही सकती है। क्योंकि इन्हीं आवारा कुत्तों की वजह से पुलिस ने एक ब्लाइंड मर्डर (Blind Murder) केस सुलझा लिया। 

आवारा कुत्ते की गवाही

किस्सा महाराष्ट्र के नवी मुंबई का है। यहां एक स्ट्रीट डॉग यानी आवारा कुत्ते ने पुलिस को ऐसा रास्ता दिखाया जिसकी वजह से एक 45 साल के शख्स की हत्या का सारा राज एक ही झटके में बाहर आ गया। पुलिस की बातों पर यकीन किया जाए तो जिस वक़्त हत्या की ये वारदात अंजाम दी गई, उस वक़्त वो आवारा कुत्ता वहीं मौके पर मौजूद था। और उसकी सारी तस्वीरें उस सीसीटीवी कैमरे (CCTV Camera) की तस्वीरों में कैद हो गई। उसके बाद पुलिस ने महज 48 घंटों के भीतर ही कत्ल की ये गुत्थी सुलझा भी ली और आरोपी को गिरफ्तार भी करने का दावा कर डाला। 

13 अप्रैल को हुआ मर्डर

हत्या के इस सनसनीखेज किस्से की शुरुआत होती है 13 अप्रैल की सुबह से। उसी रोज नवी मुंबई के नेरुल इलाके में खून से लथपथ एक अनजान शख्स की लाश मिली थी। पुलिस को जब लाश मिलने की खबर मिली तो वो मौके पर पहुँची और आस पास के सारे इलाके को खंगाल डाला। मगर उसे वहां ऐसा कोई सुराग नहीं मिला जिससे कत्ल के इस किस्से की और कातिल की पहचान मुमकिन हो सके। तब पुलिस ने आस पास के इलाके में लगे सीसीटीवी खंगालने का इरादा किया और उससे इस ब्लाइंड मर्डर को सुलझाने की कोशिश शुरू की। पुलिस को सीसीटीवी से ये पता लग गया कि जिस लड़के की हत्या की गई थी वो असल में वहीं आस पास के इलाकों में कचरा बीना करता था। 

ADVERTISEMENT

लोहे के रॉड से किया वार

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला कि उस लड़के की हत्या उसके सिर पर किसी भारी चीज को मारकर की गई थी। सीसीटीवी को देखकर पुलिस को ये भी पता चल गया कि उस लड़के के सिर पर भारी रॉड से वार करने के बाद हमलावर वहां से चला गया था और जिस शख्स के सिर पर वार किया गया था वो बेहोश होकर वहीं गिर पड़ा था। 

सीसीटीवी में दिखा स्ट्रीट डॉग

उस सीसीटीवी की फुटेज में हमलावर का चेहरा बहुत मामूली नजर आ रहा था। जबकि उसी सीसीटीवी में पुलिस को एक स्ट्रीट डॉग भी दिखाई पड़ रहा था। जबकि जिस जगह ये वाकया हुआ वहां आसपास कोई मौजूद नहीं था। ऐसे में पुलिस के लिए कोई चश्मदीद नहीं था। और जिस टीम ने मौका-ए-वारदात का मुआयना किया था उस टीम को भी मौके पर एक काला कुत्ता नजर आया था। जिसके पेट पर सफेद रंग की पट्टी थी। 

ADVERTISEMENT

कुत्ते को देखकर हुआ पुलिस को शक

लेकिन पुलिस ने जिस बात को गौर किया वो था कुत्ते का व्यवहार। आमतौर पर कुत्ता किसी अजनबी को देखकर भौंकता था,  लेकिन जिस वक़्त हमलावर सामने आया तो कुत्ता उसे देखकर नहीं भौंका। इससे पुलिस ने ये तो अंदाजा लगा लिया कि हो न हो हमलावर का और इस आवारा कुत्ते के कोई न कोई रिश्ता जरूर है। पुलिस ने तब उस काले सफेद कुत्ते की तलाश शुरू की। लंबी तलाशी और दौड़धूप के बाद पुलिस को वही सीसीटीवी वाला कुत्ता नेरुल फ्लाई ओवर के नीचे फुटपाथ पर एक शख्स के साथ वो कुत्ता नज़र आ गया। 

ADVERTISEMENT

फुटपाथ पर सोता मिला आरोपी

आस पड़ोस में पुलिस ने जब कुत्ते को लेकर पूछताछ की तो खुलासा हुआ कि ये कुत्ता आमतौर पर भार्या नाम के एक लड़के के साथ रहता है। तब पुलिस ने उस कुत्ते पर नज़र रखनी शुरू कर दी। अगली ही रात यानी 15 अप्रैल की रात पुलिस को भार्या नाम का वही लड़का वहीं फुटपाथ पर सोता मिल गया। पुलिस ने बिना किसी देरी के भार्या को पकड़ लिया और पूछताछ शुरू की। तो देखते ही देखते बात खुल गई और हत्याकांड का पर्दाफाश हो गया। 

छुटकारा पाने के लिए मर्डर

पुलिस के मुताबिक जिस भार्या नाम के लड़के को पुलिस ने हत्या के इल्जाम में गिरफ्तार किया उसका असली नाम मनोज प्रजापति है। मगर उसने हत्या की जो वजह बताई वो बेहद चौंकानें वाली थी। असल में जिस शख्स की हत्या हुई वो भार्या को मारता पीटता था और उसके पैसे छीन लेता था। तंग आकर उसने एक रोज उसकी हत्या कर दी। आरोपी ने ही पुलिस को बताया कि 13 अप्रैल की सुबह, प्रजापति और कूड़ा बीनने वाले के बीच हाथापाई हुई थी,  इसके बाद दोनों में मारपीट हुई, जिसमें भार्या ने मौका मिलते ही रॉड से उसके सिर पर हमला कर दिया जिससे कूड़ा बीनने वाले की मौत हो गई।

कुत्ते को रोज खिलाता था खाना

पुलिस को ये भी पता लगा कि मनोज उर्फ भार्या असल में उस कुत्ते को रोज खाना खिलाता था, जिससे कुत्ते उसे अच्छी तरह से पहचानने लगा था, इसीलिए वारदात के वक्त जब मनोज ने पीड़ित पर वार किया तो कुत्ता उसे देखकर बिलकुल भी नहीं भौंका। बल्कि ज्यादातर वक्त उसी के साथ रहता था। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT